नोटबंदी के बाद अब सिक्काबंदी की तैयारी में जुटी मोदी सरकार

0
76

पीएम मोदी की अगुवाई वाली एनडीए सरकार ने आर्थिक मुद्दे पर जो भी सरंचनात्मक सुधार किए उसमें विमुद्रीकरण यानि नोटबंदी शामिल है। आपको जानकारी के लिए बतादें कि नोटबंदी के बाद मोदी सरकार अब सिक्काबंदी की तैयारी में जुट गई है।

मीडिया में मिली जानकारी के अनुसार, देश के प्रमुख चार टकसालों से सिक्कों की ढलाई बंद कर दी गई है। आपको बता दें कि कोलकाता, हैदराबाद, मुंबई तथा नोएडा की सरकारी टकसालों से सिक्कों का प्रोडक्शन बंद कर दिया गया है। देश की इन चार टकसालों में भारत सरकार के आदेश पर सिक्कों की ढलाई की जाती है।

सिक्काबंदी की वजह

बताया जा रहा है कि नोटबंदी के दौरान भारी संख्या में सिक्कों का प्रोडक्शन किया गया था। आज की तारीख में भारी मात्रा में सिक्के रिजर्व बैंक के स्टोर में पड़े हुए हैं।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, रिजर्व बैंक के पास 8 जनवरी तक कुल 2500 एमपीसीएस सिक्के स्टोरेज हैं। इसलिए आरबीआई के आदेश पर सिक्कों की ढलाई रोक दी गई है।

8 नवंबर 2016 में की थी नोटबंदी

देश के पीएम नरेन्द्र मोदी की सरकार ने 8 नवंबर 2016 की रात को नोटबंदी का फैसला लिया था। नोटबंदी के दौरान 1000 तथा 500 रूपए के नोटों को कानूनी रूप से अवैध घोषित कर दिया गया था।

नोटबंदी के दौरान केंद्र सरकार ने कहा था कि देश में व्याप्त भ्रष्टाचार तथा कालेधन को समाप्त करने के लिए नोटबंदी की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...