पंजाब में हो रही आंतरिक स्थिति खराब करने की कोशिश, सतर्क रहने की जरूरत – जनरल रावत

0
30

पटियाला। सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने त्योहारी सीजन में सभी को सतर्क रहने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि रेफरेंडम 2020 के तहत पंजाब में आंतरिक स्थिति खराब करने की कोशिशें की जा रही हैं।

राज्य में कानून व्यवस्था को बिगाड़ने की गतिविधियां सामने आ रही हैं। इसके अलावा नॉर्थ ईस्ट राज्यों में भी हालात बिगड़ने की आशंका से इन्कार नहीं किया जा सकता। जनरल रावत नाभा में पंजाब पब्लिक स्कूल के सालाना समागम में पहुंचे थे।

जनरल रावत ने कहा कि पंजाब में पिछले कुछ दिनों के दौरान आतंकी गतिविधियां होने की साजिशों के खुलासे ने साबित कर दिया है कि यहां के लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है।

पंजाब की जनता ने इससे पहले भी अपनी सावधानी का सबूत दिया है। यही कारण रहा कि राज्य आतंकवाद के काले दौर से बाहर निकला।

पाकिस्तान का नाम लिए बगैर जनरल रावत ने कहा कि पड़ोसी देश पंजाब में हालात को खराब करने की कोशिशों में लगातार रहता है। उन्होंने कहा कि ऐसे हालात को कंट्रोल करने के लिए केंद्र सरकार के साथ-साथ सेना व पंजाब पुलिस आपस में तालमेल बनाए हुए है।

इससे पूर्व, गत दिवस भी सेना प्रमुख बिपिन रावत ने पंजाब के हालातों पर चिंता जताई थी। उन्होंने कहा कि पंजाब में बाहरी ताकतों के जरिए फिर से आतंकवाद को सिर उठाने देने की साजिश रची जा रही है।

अगर जल्दी ही कोई कार्रवाई नहीं की गई तो बहुत देर हो जाएगी। गत दिवस सेना के वरिष्ठ अफसरों, रक्षा विशेषज्ञों और सरकार के पूर्व वरिष्ठ अफसरों के एक सेमिनार को संबोधित करते जनरल रावत ने कहा कि बाहरी या विदेशी ताकतों के दम पर पंजाब में फिर से आतंकवाद की जड़ें जमाने की कोशिश की जा रही है।

उन्होंने कहा कि पंजाब में यूं तो शांति है लेकिन हमें सावधान रहने की जरूरत है। हमें यह नहीं सोचना चाहिए पंजाब के हालात सुधर गए हैं। पंजाब में जो हो रहा है, हम उससे आंखें नहीं मूंद सकते हैं। जनरल रावत ने कहा कि आंतरिक सुरक्षा भी देश की एक बड़ी समस्या है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...