पार्षद ने किया सरेंडर, जमीन धोखाधड़ी का है आरोप

0
48
दरअसल, पिछले दिनों राजस्थान हाईकोर्ट ने भूखंड बेचने में धोखाधड़ी के मामले में पार्षद जनक सोनी की अग्रिम जमानत याचिका निस्तारित करते हुए निचली अदालत में एक सप्ताह में सरेंडर करने के आदेश दिए थे। 14 नंबर वार्ड से पार्षद जनक सोनी के विरुद्ध कैलाश कुमार चौहान को फर्जी व कूटरचित दस्तावेज के आधार पर राजबाग स्कीम सूरसागर में भूखंड बेच कर बदले में 16 लाख रुपए लेने का आरोप है।
मामले में जब प्रार्थी ने भूखंड पर चार लाख रुपये खर्च कर 10 फीट की दीवार बनाई, तब किसी ने कहा कि इस भूखंड के दस्तावेज फर्जी हैं। फिर नगर निगम और जोधपुर विकास प्राधिकरण से पता चला कि उनके साथ धोखाधड़ी की गई है। जिसके बाद कैलाश चौहान ने सोनी और अन्य आरोपियों के खिलाफ उदयमंदिर थाने में धोखाधड़ी की एफआईआर दर्ज करवाई थी।
इसके बाद जनक सोनी भूमिगत हो गया था, लेकिन कोर्ट के आदेश पर बुधवार को सरेंडर कर दिया। सरेंडर करने के बाद पुलिस ने न्यायिक अभिरक्षा भेज कर दोबारा एक दिन का रिमांड प्राप्त कर लिया। गुरुवार को पार्षद को कोर्ट में पेश किया जाएगा। बताया जाता है कि निर्दलीय होने के बावजूद पार्षद जनक सोनी की भाजपा में गहरी पैठ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...