पीएचडी स्कॉलर को एएमयू ने किया सस्पेंड, हिजबुल मुजाहिद्दीन में शामिल होने की अटकलें तेज, यूपी पुलिस की छापेमारी शुरू

0
84
Munan Bashir Wani

जम्मू-कश्मीर निवासी मनान वानी अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का पीएचडी स्कॉलर है। बताया जा रहा है कि वानी आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन का सदस्य बन चुका है।

संदेह के आधार पर अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय प्रशासन ने तत्काल प्रभाव से वानी को संस्पेंड कर दिया है। विवि. से लापता रिसर्च स्कॉलर वानी की तलाश में यूपी पुलिस ने छापेमारी शुरू कर दी है।

एसएसपी अलीगढ़ की अगुवाई में पुलिस टीम ने हॉस्टलों में छापेमारी शुरू कर दी है।
एसएसपी अलीगढ़ के नेतृत्व भारी संख्या में पुलिस टीम ने विवि. के हबीब हॉल में वानी के कमरे की तलाशी में जुटी हुई है।

मनान वानी के आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन में शामिल होने की खबरों से एएमयू प्रशासन तथा छात्रों में अफरा—तफरी मची हुई है। हांलाकि विवि. प्रशासन ने अभी तक वानी के संबंध में कोई बयान नहीं दिया है।

वानी की फोटो वायरल

एएमयू के रिसर्च स्कॉलर वानी की एक तस्वीर सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रही है। इस तस्वीर में वानी एके-47 राइफल के साथ दिख रहा है। वानी की यह तस्वीर आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन से जुड़ी बताई जा रही है।

मनान वानी की पृष्ठभूमि

जम्मू-कश्मीर पुलिस के अनुसार, वानी के ​पिता के नाम बशीर अहमद वानी है। मनान वानी जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले का ताकिपोरा ग्रामवासी है। अभी तीन दिन पहले ही वानी एएमयू से जम्मू—कश्मीर गया था।

वानी एएमयू से पिछले 5 साल से जुड़ा हुआ है। पहले वानी ने एमफिल में एडमिशन लिया था, अब वह जिऑलजी में पीएचडी स्कॉलर है।

आप को जानकारी के लिए बता दें कि फेसबुक पर वानी की एके-47 राइफल के साथ एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें यह लिखा गया है कि 5 जनवरी को उसने आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन ज्वाइन कर लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...