पीएनबी महाघोटाला: धोखाधड़ी में गिरफ्तारी शुरू, बैंककर्मियों समेत 3 अरेस्ट

0
132

नई दिल्ली। पीएनबी महाघोटाला मामले में शनिवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए सीबीआई ने बैंक के पूर्व डेप्युटी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी, SWO मनोज खरात और हेमंत भट्ट को गिरफ्तार कर लिया है। भट्ट नीरव मोदी की कंपनी का अधिकृत हस्ताक्षरकर्ता था। सीबीआई आज सभी आरोपियों को मुंबई स्पेशल कोर्ट में पेश करेगी। बता दें कि PNB घोटाले का मुख्य आरोपी नीरव मोदी देश छोड़कर जा चुका है जबकि एक अन्य आरोपी मेहुल चौकसी भी भारत से बाहर है।

11,300 करोड़ रुपये के इस घोटाले में नीरव मुख्य आरोपी है। गौरतलब है कि पीएनबी के एक डेप्युटी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी पर ही कथित तौर पर स्विफ्ट मेसेजिंग सिस्टम का दुरुपयोग करने का आरोप है। बैंक इसी सिस्टम से विदेशी लेनदेन के लिए LOUs के जरिए दी गई गारंटीज को ऑथेंटिकेट करते हैं। इन्हें ऑथेंटिकेशनों के आधार पर कुछ भारतीय बैंकों की विदेशी शाखाओं ने फॉरेक्स क्रेडिट दी थी। पीएनबी घोटाले में 18 कर्मचारियों को निलंबित कर चुका है।

यह घोटाला कथित रूप से जूलर नीरव मोदी ने किया है। इस घोटाले में कई बड़ी आभूषण कंपनियां मसलन गीतांजलि, गिन्नी और नक्षत्र भी विभिन्न जांच एजेंसियों की जांच के दायरे में आ गई हैं। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘चार बड़ी आभूषण कंपनियां गीतांजलि, गिन्नी, नक्षत्र और नीरव मोदी जांच के घेरे में हैं।

सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय उनकी विभिन्न बैंकों से सांठगांठ और धन के अंतिम इस्तेमाल की जांच कर रहे हैं।’ अधिकारी ने कहा कि वित्त मंत्रालय से सख्त निर्देश है कि कोई बड़ी मछली बचने न पाए और ईमानदार करदाता को किसी तरह की परेशानी न हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...