पेट्रोल की कीमतों में एक बार फिर से बढ़ोतरी, जानिए इसके पीछे का कारण

0
127
petrole-rate up
petrole-rate up

पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतें कम होने का नाम ही नहीं ले रही हैं। आम आदमी को थोड़ी सी राहत देने के लिए मोदी सरकार ने अक्टूबर महीने में एक्साइज ड्यूटी घटाई थी, लेकिन पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर इसका कोई सीधा असर दिखाई देता नजर नहीं आ रहा है।

आपको जानकारी के लिए बता दें कि देश की राजधानी दिल्ली में मंगलवार को एक बार फिर से पेट्रोल की कीमतें प्रति लीटर के हिसाब से 70 रूपए के पार पहुंच गई। दिल्ली में मंगलवार को पेट्रोल 70.53 रुपए प्रतिलीटर तथा डीजल 60.66 रुपए प्रति लीटर के हिसाब से बिका। एक्साइज ड्यूटी घटाने के बावजूद पेट्रोल-डीजल की कीमतें अपने पुराने स्तर पर पहुंच गई।

कच्चे तेल की कीमतों में इजाफा

वैश्विक बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में हो रही लगातार बढ़ोतरी के चलते देश में पेट्रोल-डीजल के दामों में इजाफा देखने को मिल रहा है। आपको बता दें कि जबतक कच्चे तेल की कीमतें बढ़ती रहेंगी तब तक पेट्रोल—डीजल की कीमतों में कमी की आशा नहीं की जा सकती है। गौरतलब है कि 3 अक्टूबर 2017 को दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल 70.88 रुपए के हिसाब से बिका था।

पेट्रोल-डीजल को जीएसटी दायरे में लाने का दबाव

पेट्रोल और डीजल की बढ़ रही कीमतों को कम करने के लिए लोग इन्हें जीएसटी दायरे में लाने के लिए दबाव बना रहे हैं। इस मामले में वित्त मंत्री अरूण जेटली ने बयान दिया था कि मोदी सरकार पेट्रोल—डीजल को जीएसटी दायरे में लाने के लिए तैयार है, इसके लिए राज्यों से आम सहमति ली जा रही है।

संभव है कि मोदी सरकार इस साल पेट्रोल—डीजल को जीएसटी दायरे में लेते हुए इसकी बिक्री करे। आगामी जीएसटी काउंसिल में जेटली की अगुवाई वाली समिति इस मामले पर विचार—विमर्श कर सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...