प्राइवेट चैनलों पर भी सुन सकेंगे न्यूज, केंद्र सरकार ने दी अनुमति

0
37

एफम सुनने वालों के लिए एक अच्छी खबर हैं। अब आप को एफएम पर न्यूज सुनने के लिए आकाशवाणी यानि एफएम गोल्ड, विविध भारती या एफएम रैंम्बो पर ट्यून करने की जरुरत नहीं होगी। अब आप प्राइवेट चैनलों पर भी न्यूज सुन सकेंगे। प्राइवेट एफएम चैनलों की काफी समय से चल रही मांग को केंद्र सरकार ने अनुमति दे दी है। केंद्र सरकार ने देश के सभी प्राइवेट एफएम चैनलों को समाचार प्रसारण करने के लिए 31 मई तक निशुल्क सुविधा दी है।

प्राइवेट एफएम को मिली इसी सुविधा के बाद वह आकाशवाणी से प्रसारित होने वाली खबरों को उसी रूप में हिंदी या अंग्रेजी में प्रसारित कर सकेंगे। प्राइवेट एफएम चैनलों को न्यूज में कांट-छांट या बदलवा नहीं करना होगा। केंद्र सरकार ने प्राइवेट एफएम चैनलों के लिए न्यूज प्रसारित करने के लिए कुछ नीतियां भी बनाई हैं। प्राइवेट एफएम चैनल आकाशवाणी की न्यूज के अलावा कोई अन्य न्यूज को प्रसारित नहीं कर सकेंगे।

 

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने एक कार्यक्रम में इसका ऐलान करते हुए कहा कि प्राइवेट एफएम चैनलों और आकाशवाणी के सहयोगात्मक प्रयासों से देश के नागरिक जागरूक, शिक्षित और सशक्त होंगे। सरकार की प्राथमिकता जनता में जागरूकता फैलाना है। उन्होंने कहा कि एक जागरूक नागरिक एक सशक्त नागरिक होता है।

मंत्रालय की विज्ञप्ति के अनुसार, “जो निजी एफएम प्रसारणकर्ता समाचार बुलेटिन सुनाना चाहते हैं वे ‘न्यूज सर्विस डिवीजन: ऑल इंडिया रेडियो’ की वेबसाइट ‘न्यूजऑनएयर डॉट कॉम’ पर जाकर रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। प्रसार भारती के सीईओ शशिशेखर वेम्पती ने बताया कि करीब 100 एफएम चैनल्स ने आज आकाशवाणी न्यूज के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है।

प्रसार भारती के चेयरमैन ए. सूर्य प्रकाश ने टीवी पर दिए एक संदेश में इस उपक्रम को महत्वपूर्ण बताया। एसोसिएशन ऑफ रेडियो ऑपरेटर्स ऑफ इंडिया ने प्रसार ने निजी रेडियो प्रसारणकर्ताओं की लंबे समय से लंबित मांग पूरी करने के लिए सरकार का आभार व्यक्त किया।

बड़ी सी गाड़ी के ड्राइवर बने रणवीर और उनकी जिंदगी में आये बदलाव पर आधारित है फिल्म ‘गल्ली बॉय

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...