फर्जी प्लॉट बेचने वाला शातिर ठग आया खाकी के शिकंजे में

0
65
शातिर फर्जी प्लॉट बेचकर लोगों से रुपए लेकर फरार हो जाता था. ठग ने आर्मी के सूबेदार मेजर को भी फर्जी एग्रीमेंट के आधार पर भूखंड बेचा था. यह शातिर ठग जोधपुर, कोटा,  टोंक,  देवली, जयपुर में अलग अलग नाम से ठगी करता था. शातिर ठग की ओर से जगतपुरा इलाके में  फर्जी नाम बदलकर प्लॉटों का काम किया जा रहा था, जिससे सूबेदार के बेटे ने भी प्लॉट के लिए संपर्क किया. इसके बाद वो उसके बेटे से लगभग 22 लाख रुपये लेकर फरार हो गया।

प्रताप नगर थाना पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर टोंक के देवली से ठग को गिरफ्तार कर लिया. शातिर ठग की ओर से टोंक, देवली में भी यह कार्य किया जा रहा था. जहां पर एक फर्जीवाड़ा कर ऑफिस डाला गया और फर्जी कंपनी बनाकर प्लॉटों की बेचने का कार्य जारी रखा।

शातिर ठग का असली नाम प्रदीप सोनी होना सामने आया है जो वैशाली नगर, जगतपुरा, मालवीय नगर, कोटा, जोधपुर, रेलवे कॉलोनी में अलग-अलग नाम से किराए के मकान में रहता था. जिससे कोई यह अंदेशा ना लगा सकें की है शातिर ठग है. पुलिस की गिरफ्त में आए शातिर ठग से पूछताछ की जा रही है. अन्य ठगी की वारदातों को खुलने की संभावना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...