फिल्म पद्मावत रिलीज हुई तो नाहरगढ़ -जयगढ़ आमेर किले के दरवाजे बंद-करणी सेना

0
143
ban-padmawat-release-jaipur

जयपुर। फिल्म पद्मावत के रिलीज होने में महज 4 दिन का समय बाकी है। ऐसे में करणी सेना का विरोध लगातार उग्र होता जा रहा है। आर-पार की लड़ाई के मूड में आई करणी सेना के अध्यक्ष महिपाल मकराना ने फिल्म पर बेन नहीं करने पर नया ऐलान कर दिया है। महिपाल मकराना ने कहा है कि अगर फिल्म पर प्रतिबंध नहीं लगा तो हम जयपुर में पर्यटकों के लिए किलों के द्वार बंद कर सकते हंै।

मकराना ने कहा कि आमेर, नाहरगढ़ और जयगढ़ किले में किसी भी सैलानी को घुसने नहीं दिया जाएगा और किले के गेटों को बंद किया जाएगा। मकराना यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा कि जब तक केंद्र सरकार हमारी बात नहीं मानती तब तक हम स्मारकों को खोलने नहीं देंगे।

वहीं राजपूत करणी सेना अध्यक्ष ने यह भी कहा है कि हमारी सभी राज परिवारों से बात हुई है, उन्होंने हमें आश्वासन दिया है कि हम आपकी बात को ध्यान में रखते हुए सभी किलों को बंद कर देंगे। इससे पहले करणी सेना ने चित्तौडग़ढ़ के किले का दरवाजा बंद करने की बात भी कही थी। करणी सेना के अध्यक्ष महिपालसिंह मकराना ने प्रेस वार्ता में सेना से भी पद्मावत फिल्म का विरोध करने का आह्वान किया था।

मकराना ने कहा कि जिस दिन जौहर हुआ था, उस दिन को राजपूताना राइफल अपना स्थापना दिवस मनाती है। ऐसे में सभी क्षत्रिय फौजी अपनी तमाम रेजिमेंटों में एक दिन के लिए रानी पद्मावती के साथ अपनी बहन-बेटी और बहुओं के सम्मान में कम से कम एक दिन मेस का बहिष्कार करें।

पिंकसिटी के सिनेमाघरों में पद्मावत को लेकर अभी भी संशय बरकरार
शूटिंग के दौर से ही विवादों में रही पद्मावती से पद्मावत हुई फिल्म राजस्थान में रिलीज होगी इसी पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद भी संशय बना हुआ है। एक तरफ राजस्थान सरकार इस फिल्म से प्रतिबंध हटाने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार तक रिव्यू पीटिशन दायर करेगी। वहीं राजधानी जयपुर के सिनेमाघर भी इस फिल्म को प्रदर्शित करने से बचते नजर आ रहे हैं। पिंकसिटी की पहचान रहे राजमंदिर के मैनेजर ने बताया कि इस फिल्म में कोर्ट से लेकर सड़क पर बवाल मचा हुआ है। ऐसे में सिनेमाघर को कोई नुकसान ना पहुंचे इसलिए इस फिल्म को बुक नहीं किया गया है। उधर, राजपूत संगठन पहले ही फिल्म का विरोध कर रहे हैं।

रानी पद्मिानी के जौहर स्थल पर क्षत्राणियों ने उठाई तलवारें
चित्तौडग़ढ़। संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत रिलीज होने में महज 4 दिन बचे हैं। फिल्म पर प्रतिबंध की मांग को लेकर विरोध लगातार जारी है। इसी सिलसिले में महारानी पद्मिनी के जौहर स्थल पर महिलाओं ने स्वाभिमान रैली निकाली। शूटिंग के समय से ही विवादों में रही फिल्म पद्मावत पर गुस्साई सर्व समाज की महिलाओं ने आंदोलन की रूप रेखा तैयार की। जिसके चलते रविवार को दुर्ग के जौहर स्थल से स्वाभिमान रैली का आयोजन किया गया। स्वाभिमान रैली में मध्यप्रदेश सहित राजस्थान के कई जिलों से करणी सेना, जौहर क्षत्राणी मंच सहित बड़ी संख्या में सर्व समाज की महिलाओं ने भाग लिया। अपने आत्म सम्मान और सतीत्व की रक्षा के लिए आज हाथों में तलवार लेकर रैली निकाली जो शहर के विभिन्न मार्गों से होती हुई जौहर भवन में संपन्न हुई। इसके बाद महिलाओं ने तलवारें लहराते हुए फिल्म के रिलीज होने के एक दिन पूर्व जौहर करने की चेतावनी दी। इधर महिलाओं ने कहा कि वो राष्ट्रपति से मिलकर इच्छा मृत्यु की मांग करेंगी। पुलिस ने भी दुर्ग स्थित ऐतिहासिक धरोहर की सुरक्षा ब?ा दी हैं। स्वाभिमान रैली को लेकर भी ब?ी संख्या में भारी पुलिस बल तैनात कर रखा हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...