बिनानी इंडस्ट्री कर्जदारों का पूरा पैसा लौटाएगी

नई दिल्ली।  बिनानी इंडस्ट्री जो कि कर्ज में डूबी बिनानी सीमेंट में 98.4 फीसद की हिस्सेदारी रखती है ने नेशनल कंपनी लॉ अपीलेट ट्रिब्यूनल में कर्जदारों की 100 फीसद देनदारी चुकाने की पेशकश की है।
एनसीएलएटी के समक्ष दायर एक नई याचिका में, जिसे उसने प्रस्तुत किया है, में कहा गया है
कि वित्तीय लेनदारों, परिचालन लेनदारों और अन्य की देनदारी को दो हफ्तों में चुका दिया जाएगा।
बिनानी इंडस्ट्रीज के वकील ने कहा कि लेनदारों के दावों का निपटारा कंपनी को दिवालिया कार्यवाही से बाहर ले आएगा।
न्यायमूर्ति एस जे मुखोपाध्याय की अध्यक्षता वाली एनसीएलएटी खंडपीठ ने क्रेडिटर्स (सीओसी), संकल्प पेशेवरों से पांच दिनों के भीतर अपना जवाब दर्ज कराने को कहा है।
इसके अलावा डालमिया भारत ग्रुप की सहायक कंपनी राजपूताना प्राइवेट प्राइवेट लिमिटेड से भी कहा गया है,
जिनकी बोलियां पहले ही सीओसी द्वारा अनुमोदित कर ली गईं हैं,
कि वो इस मामले में सुनवाई के लिए हस्तक्षेप आवेदन याचिका दायर करें।
खंडपीठ ने यह भी कहा कि वो इस पर भी गौर करेंगे
कि अगर कंपनी ने दो से चार हफ्तों में 100 फीसद क्रेडिट का भुगतान करने की इच्छा जताई है
तो क्या एनसीएलटी कॉर्पोरेट देनदारों के लिए शेयरधारकों के प्रस्ताव को मना कर सकता है। ट्रिब्यूनल ने इस मामले में अगली सुनवाई की तारीख 22 मई मुकर्रर की है।
गौरतलब है कि इस समय बिनानी सीमेंट्स मुश्किल दौर से गुजर रही है।
Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here