बेस्ट डेस्टिनेशन है साउथ इंडिया का वैल्लोर …ट्रैकिंग और पैराग्लाइडिंग के लिए

वैल्लोर

भारत में ऐसी कई जगह हैं

जो घूमने-फिरने के मामले में विदेश की किसी जगह से कम नहीं हैं. आप यहां घूमकर विदेश जैसा अनुभव ले सकते हैं बल्कि भारत में ऐसी कई डेस्टिनेशन्स हैं, जिनकी तुलना विदेश से की जाती है. उन जगहों को मिनी स्विटजरलैंड, मिनी फ्रांस आदि जगहों से नवाजा जाता है. आज हम आपको बताने जा रहे हैं, भारत की एक खास जगह वैल्लोर के बारे में. जिसकी सुंदरता की वजह से उसे मिनी इंग्लैंड के नाम से जाना जाता है. आइए, जानते हैं वैल्लोर की खास बातें.

मिनी इंग्लैंड भारत में 

वैल्लोर को दक्षिण भारत के प्राचीनतम शहरों में से एक माना जाता है. यह शहर  वैल्लोर किले के पास स्थित पलार नदी के किनारे बसा है. यह शहर चेन्नई और बैंगलोर तथा मंदिरों के शहर थिरुवन्नमलाई एवं तिरुपति के बीच स्थित है. तमिलनाडु के वेल्लोर जिले में 29 स्वाेन्नयर किमी के क्षेत्र में फैला येलागिरि एक छोटा सा हिल स्टे्शन है. बैंगलोर से 40 किमी दूर स्थित है औद्योगिक शहर होसूर. आजादी से पूर्व ब्रिटिया काल में होसूर को छोटा इंग्लैंड कहा जाता था. सालभर सुहावना मौसम होने के कारण इसका वातावरण इंग्लैंड से मिलता था. होसूर के दो प्रमुख पर्यटन स्थरल हैं राजाजी स्माइरक और प्रत्याानगिरि मंदिर.

छुट्टियों के लिए येलागिरी पहाड़ियां एक सुखद स्थान हैं. यहां हरी-भरी पहाड़ियां आपका स्वागत करती हैं. यह एक विलक्षण पहाड़ी स्थल है और तमिलनाडु के पहाड़ी स्थलों में से सबसे प्राचीन एवं प्रदूषणरहित है. येलागिरी पहाड़ियों का इलाका पिछड़ा हुआ है, जिसमें कॉटेज एवं फार्म हॉउस जैसी दिखने योग्य कुछ गिनेचुने विकास ही हुए हैं, लेकिन इसके बावजूद इसने अपने ऊपर ‘दूरस्थ’ का ठप्पा लगा रखा है.

read more

भारत में टेस्ट सीरीज जीतना एवरेस्ट चढ़ने जैसा कठिन: कंगारू कोच

पूर्व मलेशियाई पीएम के देश छोडऩे पर प्रतिबंध

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...