ब्राजील में चाइल्ड पॉर्नोग्राफी के खिलाफ छापेमारी में 251 गिरफ्तार

साओ पाउलो। लैटिन अमेरिकी देश ब्राजील में चाइल्ड पॉर्नोग्राफी हाल के वर्षों में एक बेहद बड़ी समस्या के रूप में उभरी है। प्रशासन समय-समय पर इस घिनौने कारोबार में लिप्त लोगों पर कड़ी कार्रवाई करता रहा है, लेकिन ऐसी कार्रवाइयां अभी तक नाकाफी साबित हुई हैं। ऐसी ही एक कार्रवाई में ब्राजीली अधिकारियों ने पॉर्नोग्राफी और नाबालिगों के यौन उत्पीडऩ के मामले में 579 लोगों के खिलाफ वॉरंट जारी किया है।
साथ ही देश की पुलिस ने सैकडों जगहों पर छापेमारी की और 250 से अधिक लोगों को गिरफ्तार कर चाइल्ड पॉर्नोग्राफी से जुड़ी सामग्री जब्त की।
24 राज्यों में एक साथ कार्यवाही:
 ब्राजील के जन सुरक्षा मंत्रालय ने बताया कि हजारों पुलिसकर्मियों ने कल देश के 24 राज्यों एवं संघीय जिले में कार्रवाई की। बताया जाता है
कि छापेमारी के दौरान पुलिस ने जिन लोगों को गिरफ्तार किया वे चाइल्ड पॉर्नोग्राफी में संलिप्त थे
अथवा इसे शेयर करने का काम करते थे।
शाम तक पुलिस ने कुल मिलाकर 251 लोगों को हिरासत में ले लिया था।
चाइल्डहुड लाइट का  क्रियान्वयन:
जन सुरक्षा मंत्री राउल जुगमान ने बताया कि ब्राजील के इतिहास में इतनी बड़ी तादाद में नागरिक पुलिस को शामिल करते हुए यह सबसे बड़ी कार्रवाई थी।
उन्होंने कहा,’इसमें कोई शक नहीं है कि यह सबसे अधिक निंदनीय,
हमारे बच्चों और किशोरों के खिलाफ सबसे अधिक असहनीय अपराध है।
ऑपरेशन चाइल्डहुड लाइट नाम का यह अभियान सबसे पहले अक्टूबर 2017 में शुरू हुआ था।
गिरफ्तारी की संख्या में वृद्धि देखने को मिल सकती है
क्योंकि पहले दिन 579 गिरफ्तारी वारंट में से दिन के अंत तक आधे को भी गिरफ्तार नहीं किया गया था।
पुलिस के मुताबिक, इस ऑपरेशन को 24 राज्यों और देश की राजधानी ब्रासीलिया में चलाया गया।
अभियान में कुल 2,600 अधिकारी शामिल हुए।
अधिकांश गिरफ्तारियां साओ पाउलो और रियो डि जिनेरियो के इलाकों में हुई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here