ब्रिटेन में  ‘मीठा कर’ लागू

लंदन । सॉफ्ट ड्रिंक और कोल्ड ड्रिंक की अधिकता स्वास्थ्य पर बुरा असर डालते हैं यह जानने की बावजूद लोग यह आदत छोडऩे को तैयार नहीं है। यही वजह है कि ब्रिटेन ने अपने नागरिकों को इसके खतरे से बचाने का फैसला किया है।  ब्रिटेन में सुगर टैक्स (मीठा कर) लागू कर दिया गया है।  ज्यादा मीठा पीना ज्यादा महंगा होगा क्योंकि सरकार ज्यादा मिठास वाले पेयों पर अधिक ऊंची दर से टैक्स लगाया है। इसके तहत प्रति लीटर 50 ग्राम तक चीनी वाले पेय पर 18 पेंस प्रति लीटर और 80 ग्राम या उससे अधिक चीनी के स्तरवाले पेय उत्पादों पर 24 पेंस प्रति लीटर के हिसाब से टैक्स लागू होगा।
स्कूलों एवं स्वास्थ्यवर्धक आदतों में उपयोग होगा :
सॉफ्ट ड्रिंक्स उद्योग कर (सुगर टैक्स) की घोषणा ब्रिटेन के पूर्व चांसलर जॉर्ज ऑस्ब्रोन ने 2016 में की थी। इसकी वसूली ब्रिटेन के शीतल पेय विनिर्माताओं से की जाएगी। वे चाहें तो इस टैक्स का बोझ उपभोक्ताओं पर डाल सकते हैं। ब्रिटेन के जूनियर वित्त मंत्री रॉबर्ट जेनरिक ने कहा कि मीठा कर बचपन में मोटापे की समस्या से लडऩे की हमारी योजना का एक हिस्सा है। आज से जिन शीतल पेयों में ज्यादा चीनी होगी उन्हें यह शुल्क देना होगा। उन्होंने कहा कि इस मद से जो भी कोष जुटाया जाएगा, उसका सीधा उपयोग स्कूलों में नई खेल सुविधाएं विकसित करने, स्वास्थ्यवर्धक स्नैक्स क्लब बनाने और बच्चों में स्वास्थ आदतें विकसित करने में किया जाएगा। सरकार को इस टैक्स से एक साल 24 करोड़ पौंड जुटाए जाने की उम्मीद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...