भाजपा के साथ कोनराड ने बनाई सरकार…सीएम की ली शपथ

0
112

शिलांग। पूर्वोत्तर के चुनावी परिणामों से उत्साहित भाजपा और उसे समर्थन देने वाली पार्टियों ने अब सत्ता की बागडोर संभालने की शुरुआत कर दी है। त्रिपुरा और नगालैंड में तो भाजपा और उसके गठबंधन को पूर्ण बहुमत मिला था। लेकिन, मेघालय में कांग्रेस 21 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी और भाजपा सबसे कम सिर्फ 2 सीटों पर। इसके बाद भी मेघालय में भाजपा और उसके गठबंधन की सरकार बन रही है। यानी मेघालय में सिर्फ 2 सीटें जीतने वाली भाजपा सत्ता का सुख भोगेेगी। मंगलवार को कोनराड संगमा ने मेघालय के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। इस दौरान भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी उपस्थित थे। कोनराड के साथ जेम्स पीके संगमा, ए.एल.हेक सहित कुल 11 विधायकों ने मंत्री पद की शपथ ली।

किसने कितनी सीटें जीतीं

60 सदस्यीय वाली मेघालय विधानसभा में कांग्रेस ने 21 सीटें जीती थीं। वहीं एनपीपी ने 19 और भाजपा ने 2 सीटों पर कब्जा जमाया था। इसके अलावा यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी के 6 विधायक और दो विधायक पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी से चुने गए। एनसीपी और नेशनल अवेकिंग मूवमेंट पार्टी ने एक-एक सीट पर जीत दर्ज की। साथ ही तीन निर्दलीय भी विधायक बने।

पिछड़ गई कांग्रेस

मेघालय में सबसे बड़ी पार्टी बनने के बाद भी कांग्रेस सिर्फ 10 सीटों से पिछड़ गई और करीब 10 साल सत्ता का सुख भोगने के बाद आखिरकार उसके मुख्यमंत्री को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ गया। कांग्रेस की सरकार बनाने के लिए उसके रणनीतिकार अहमद पटेल और कमलनाथ मेघालय भी गए, लेकिन वे जरूरी 10 विधायकों का समर्थन नहीं जुटा पाए।

जानिए कोनराड संगमा के बारे में…

मेघालय में मजबूत नेता के रूप में सामने आए कोनराड संगमा राज्य में आठवीं विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रहे हैं। उन्होंने नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) के विधायक के रूप में सदन में विपक्ष का नेतृत्व किया। 27 जनवरी 1978 को जन्मे कोनराड संगमा वेस्ट गारो हिल्स जिले के सेलसेल्ला निर्वाचन क्षेत्र का विधानसभा में प्रतिनिधित्व किया। इससे पहले कोनराड संगमा 2008 में मेघालय के सबसे युवा वित्त मंत्री बने थे और अभी वह मेघालय की तुरा सीट से लोकसभा सदस्य हैं।

भाजपा कर रही जनादेश का अपमान

मेघालय में दो सीटें जीतने के बाद भी सरकार बना रही भाजपा पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट किया कि भाजपा सरकार गोवा और मणिपुर की तरह धोखेबाजी से मेघालय में भी सत्ता में आ रही है। ऐसा करके भाजपा जनादेश का अपमान कर रही है, क्योंकि, जनादेश कांग्रेस के पक्ष में आया है। लेकिन, भाजपा ने साम,दाम,दण्ड, भेद नीति अपनाकर मेघालय में अपनी सरकार बना ली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...