भारतीय बैंको ने माल्या को कर्ज देने में नियमों की अनदेखी की: आर्बथनॉट

0
71


लंदन। प्रत्यपर्ण मामले की सुनवाई के सिलसिले में भारतीय शराब कारोबारी विजय माल्या शुक्रवार को ब्रिटेन की एक अदालत में पेश हुए। सुनवाई के दौरान ब्रिटेन की न्यायाधीश एम्मा आर्बथनॉट ने कहा कि माल्या की किंगफिशर एयरलाइंस को कर्ज देने में कुछ भारतीय बैंकों ने नियम तोड़े हैं। लंदन की वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट अदालत की न्यायाधीश एम्मा आर्बथनॉट ने पूरे मामले को ‘खांचे जोडऩे वाली पहेली’ (जिग्सॉ पजल) की तरह बताया। इस मामले में भारी तादाद में सबूतों को आपस में जोड़कर तस्वीर बनानी होगी। उन्होंने कहा कि अब वह इसे कुछ महीने पहले की तुलना में ज्यादा स्पष्ट तौर पर देख पा रही हैं। ‘यह साफ है कि बैंकों ने (कर्ज मंजूर करने में) अपने ही दिशानिर्देशों की अवहेलना की।’ एम्मा ने भारतीय अधिकारियों को इस मामले में शामिल कुछ बैंक कर्मियों पर लगे आरोपों को समझाने के लिए ‘आमंत्रित’ किया और कहा कि यह बात माल्या के खिलाफ ‘षड्यंत्र’ के आरोप की दृष्टि से महत्वपूर्ण है। गौरतलब हैं कि 62 वर्षीय माल्या के खिलाफ उन्हें प्रत्यर्पित कर भारत भेजे जाने को लेकर सुनवाई चल रही है। अदालत ने अगर उन्हें भारत भेजने का फैसला लिया तो भारतीय अदालत उनके खिलाफ बैंकों के साथ धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में सुनवाई कर सकेगी। उनके खिलाफ करीब 9,000 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी और हेराफेरी का आरोप है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...