भारतीय स्टेट बैंक के अधिकारी को 8 साल की कैद, सीबीआई कोर्ट ने सुनाई सजा

0
59
दरअसल, हजारिका पर भारतीय स्टेट बैंक को करीब 95.99 लाख रुपये नुकसान पहुंचाने का आरोप लगा था. सीबीआई की विशेष अदालत में दोष सिद्ध होने के बाद हजारिका को आज शुक्रवार को सजा सुनाई गई.
फर्जी खाते खोलने का आरोप

SBI अधिकारी हजारिका मामले में सीबीआई अधिकारियों ने बताया कि उन्होंने 10 फर्जी खाते खोले थे. ये खाते पेंशन पाने वालों के मरने के बाद उनके या परिजनों के नाम से खोले गए थे.

SBI को करीब 95.99 लाख रुपये नुकसान

हजारिका ने उक्त खातों में धोखाधड़ी कर गैरजरूरी पेंशन की राशि भी जमा की. सीबीआई अधिकारियों ने बताया कि हजारिका ने खातों से करीब 95,99,144 रुपयों की निकासी की. इससे SBI को घाटा हुआ.
पेंशन विभाग के प्रभारी थे

पेंशन विभाग के प्रभारी थे

CBI अधिकारियों के मुताबिरक SBI के पूर्व अधिकारी तपन कुमार हजारिका असम के नागांव स्थित धींग शाखा में सीनियर असिस्टेंट के पद पर कार्यरत थे. हजारिका के पास पेंशन विभाग का भी प्रभार था.
अधिकारियों के मुताबिरक SBI के पूर्व अधिकारी तपन कुमार हजारिका असम के नागांव स्थित धींग शाखा में सीनियर असिस्टेंट के पद पर कार्यरत थे. हजारिका के पास पेंशन विभाग का भी प्रभार था.
  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...