भारत भी आए थे ईसामसीह

0
69
नई दिल्ली। दुनियाभर में आज गुड फ्राइडे मनाया जा रहा हैं। ऐसी मान्यता है कि गुड फ्राइडे के दिन ही ईसा मसीह को सूली पर लटका दिया गया था और उनकी मृत्यु हो गई थी। रूसी स्कॉलर ‘निकोलाई नोटोविच’ ने ‘द अननोन लाईफ ऑफ जीसस क्राइस्ट’ नामक पुस्तक में लिखा है कि सूली पर चढ़ाए जाने के बाद भी ईसा मसीह जीवित रह गए थे। सूली पर लटकाए जाने के बाद भी जीवित रह जाने का रहस्य क्या है, इस बारे में इतिहासकार सादिक ने ‘इकमाल-उद्-दीन’ नामक पुस्तक में लिखा है कि ईसा मसीह कई बार भारत आए थे। अपनी पहली यात्रा के दौरान इन्होंने भारत में तांत्रिक साधना और योग का अभ्यास किया था। इसी कारण वह मृत्यु पर विजय पाने में सफल हुए थे। हिन्दू धर्म के पौराणिक ग्रंथ भविष्य पुराण के प्रतिसर्ग पर्व के तृतीय खंड के द्वितीय अध्याय में भी ईसा मसीह के भारत आगमन का जिक्र किया गया है। इसमें बताया गया है कि ईसा मसीह की मुलाकात उस समय के राजा शालिवाहन से हुई थी और इन्होंने उत्तराखंड में काफी समय तक तपस्या और योग साधना का अभ्यास किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...