भूकम्प से दहला इंडोनेशिया…14 की मौत

जकार्ता। इंडोनेशिया के मशहूर पर्यटन स्थल पर आए शक्तिशाली भूकम्प ने तबाही मचा दी है। भूकम्प के चलते करीब 14 लोगों की मौत हो गई। भूकम्प रोधी विभाग का कहना है कि केन्द्रीय इंडोनेशियाई द्वीप लॉमोकोक पर 6.4 तीव्रता का भूकम्प आया। यह द्वीप बाली के पूर्व में 40 किमी. दूर स्थित है।

यह द्वीप दुनियाभर में पर्यटकों के लिए मशहूर है।

अधिकारियों का कहना है कि कई इमारतों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया है और दर्जनों लोग घायल हो गए हैं।

60 से ज्यादा आ चुके हैं भूकम्प

अमरीकी भू -वैज्ञानिक सर्वेक्षण ने कहा, भूकम्प का केन्द्र उत्तरी लंबोक में मातरम् शहर के 50 किमी. पूर्वोत्तर था।

इसके बाद यहां 60 से ज्यादा कम तीव्रता के भूकम्प आ चुके हैं।

इनमें सबसे ज्यादा आए

भूकम्प की तीव्रता 5.7 थी।

40 घायल और दर्जनों मकान क्षतिग्रस्त

देश के आपदा एजेंसी प्रवक्ता सुतोपो पुरावो नुगरोहो ने कहा कि

करीब 40 लोग घायल हो गए हैं और दर्जनों घर क्षतिग्रस्त हो गए।

उन्होंने कहा कि हताहतों की संख्या बढ़ सकती है, क्योंकि, अभी डेटा एकत्रित नहीं किए गए हैं।

उन्होंने कहा कि प्राथमिकता में सभी को सुरक्षित बचाना और निकालना है।

घायलों का अस्पताल में इलाज किया जा रहा है।

उन्होंने इमारतों और सड़कों पर बिखरे हुए मलबे के फोटो दिखाए।

घर छोड़कर सड़क पर डटे लोग

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि भूकम्प बहुत तेज था।

हम सभी लोग घर के अंदर थे और तुरन्त बाहर की ओर भागे।

हमारे सभी पड़ोसी घर के बाहर आ गए और बिजली अचानक बंद हो गई।

इसलिए आते हैं अधिक भूकम्प

इंडोनेशिया भूकम्प से ग्रसित है। क्योंकि, इसके चारों ओर आग का घेरा है।

विश्व के लगभग दो तिहाई ज्वालामुखी प्रशांत महासागर में पाए जाते हैं।

इसे ज्वाला-वृत्त अथवा अग्नि-वृत्त कहते हैं।

लगातार भूकम्प और ज्वालामुखी विस्फोटों की रेखा पूरे प्रशांत महासागर को घेरे हुए है।

वर्ष 2016 में सुमात्रा द्वीप के उत्तर-पूर्वी तट पर आए 6.5 तीव्रता के भूकम्प में दर्जनों लोग मारे गए और

करीब 40,000 से अधिक विस्थापित हो गए।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...