मनीष सिसोदिया ने मेट्रो किराया घटाने की पैरवी

0
75
मनीष सिसोदिया ने कहा कि सभी के लिए मेट्रो में सफर आसान बनाने के लिए मेट्रो किराए का कुछ करना ही होगा. बुधवार को मेट्रो भवन में पिंक लाइन मेट्रो के शिव विहार-त्रिलोकपुरी सेक्शन के उद्घाटन के दौरान सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में 60 फीसदी से अधिक लोग अनाधिकृत कॉलोनियों या झुग्गी झोपड़ियों में रहते हैं।
सिसोदिया ने कहा कि इन लोगों की रोजी रोटी भी बहुत मुश्किल से चलती है. ऐसे में इन्हीं लोगों के लिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट देते वक्त हमें ये सभी पहलू ध्यान में रखने होंगे।
‘मेट्रो की सिविल इंजीनियरिंग काबिले तारीफ’

सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली मेट्रो की सिविल इंजीनियरिंग काबिले तारीफ है लेकिन सिर्फ सिविल इंजीनियरिंग के दम पर ही लोगों के दिलों तक नहीं पहुंचा जा सकता. त्रिलोकपुरी का जिक्र करते हुए सिसोदिया ने कहा कि यहां जिन लोगों की सेवा के लिए मेट्रो बनाई गई है, उन लोगों की रोजमर्रा के आमदनी को भी ध्यान में रखना जरूरी है. उन्होंने कहा कि पूर्वी दिल्ली में गरीब लोग भी अगर मेट्रो अफोर्ड कर पाएं तब ही हम पूरी तरह सफल हो पाएंगे।
[किराया घटाना-बढ़ाना उनके हाथ में नहीं]
हरदीप सिंह पुरी ने अपने संबोधन में कहा कि किराया बढ़ाना या घटाना उनके हाथ में नहीं है. उन्होंने कहा कि किराया बढ़ने से मेट्रो की राइडरशिप कम हुई है यह कहना बिल्कुल गलत होगा. हालांकि वह खुद समझते हैं कि अभी के समय में विद्यार्थियों और वरिष्ठ नागरिकों के लिए ये थोड़ी परेशानी का कारण है और इसके लिए समाधान ढूंढा जा रहा है. केंद्रीय मंत्री पुरी ने कहा कि किराया बढ़ने से पहले मेट्रो की डेली राइडरशिप 22 लाख थी जो 3-4 दिन पहले तक 29 लाख तक पहुंच गई है. उन्होंने कहा कि वो कोशिश कर रहे हैं कि इसे और बेहतर बनाया जा सके।
  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...