,मस्तिष्क में रक्त प्रवाह में अवरोध आने पर स्ट्रोक होता है।

0
38

दुनियाभर में इंसान की मृत्यु का दूसरा सबसे बड़ा कारण है स्ट्रोक, कई लोग भ्रमवश हार्ट अटैक को स्ट्रोक समझते हैं जबकि स्ट्रोक का मतलब है, ब्रेन स्ट्रोक।

क्या होता है ब्रेन स्ट्रोक?
मस्तिष्क में रक्त प्रवाह में अवरोध आने पर स्ट्रोक होता है। ऐसे में मरीज को तुरन्त सही इलाज न दिए जाने पर उसकी मृत्यु भी हो सकती है। ब्रेन स्ट्रोक के कारण मरीज के किसी अंग में लकवा हो जाता है और वह जीवनभर पंगु हो जाता है।

लक्षण क्या होते हैं?
चेहरे की पेशियों या किसी एक अंश में एक तरफ के हाथ-पैर पर नियंत्रण न रहना। आंखों (एक या दोनों) में खिंचाव या टेढ़ापन आ जाना। बोलने में अटकाव महसूस करना या समझने में दिक्कत होना। जीभ हिलाने या कुछ निगलने में दिक्कत होना। चलते-फिरते अचानक गिर जाना। चलते समय संतुलन न रख पाना या सिर चकराना। बिना किसी खास वजह के सिर में तेज दर्द होना। रोग की तीव्रता के मुताबिक लक्षणों का कम या अधिक असर नजर आ सकता है।

ऐसे में क्या करें?
जल्द से जल्द एंबुलेंस बुलाकर मरीज को स्ट्रोक यूनिट वाले अस्पताल में पहुंचाने की व्यवस्था करें। एंबुलेंस नहीं पहुंचने तक मरीज को एक करवट लेटाएं ताकि मुंह में आ रही लार बाहर निकल सके।देखें कि रोगी की जीभ सही पोजीशन में है या नहीं, उसे सांस लेने में दिक्कत न हो और मरीज को हौसला दें। दवा या पानी देने की कोशिश न करें।

जहरीले पेड़ पौधों से भरा हुआ है , Alnwick Poison Garden’, यहां इंसान की थोड़ी सी चूक उसकी जान ले सकती है।

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...