यरूशलम में अमरीकी दूतावास खुलने का फिलिस्तीनी कर रहे विरोध

यरूशलम। इजरायल में अमरीकी दूतावास के उद्घाटन के मौके पर हजारों फिलिस्तीनियों के इजरायल की सीमा पर विरोध-प्रदर्शन की उम्मीद है। फिलिस्तीनियों ने इस दूतावास की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी आलोचना की। सीमा पर डटे फिलीस्तिनियों की सैनिकों से भी इस बात पर जोरदार बहस हो रही है।

इस घोषणा के बाद इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने अमरकी राष्ट्रपति ट्रम्प की भूरि-भूरि प्रशंसा की। इजरायल के प्रधानमंत्री और वहां के लोगों की खुशी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने अपने त्योहारों के बजाय अमरीकी दूतावास खुलने का जश्न मनाया। उन्हें फिलिस्तीनियों के विरोध-प्रदर्शन की कतई चिंता नहीं है।

इवांका के साथ की पार्टी

दूतावास के औपचारिक उद्घाटन से एक दिन पहले इजरायल ने अमरीकी विदेश मंत्री और डोनाल्ड ट्रम्प की बेटी इवांका, उनके पति जेरेड कुशनर और अन्य अमरीकी वीआईपी के साथ विदेश मंत्रालय में एक पार्टी का आयोजन भी किया गया।

इसलिए कर रहे विरोध

दरअसल, अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने अभी हाल ही में ऐलान किया था कि वह यरूशलम को इजरायल की आधिकारिक राजधानी के तौर पर मान्यता देंगे। इस दौरान उन्होंने कहा था कि वे अपना दूतावास भी तेल अवीव से हटाकर यरूशलम में खोलेंगे। इसी बात से फिलीस्तीन नाराज हैं।

क्योंकि, फिलिस्तीनियों का दावा है कि इजरायल से जुड़ा पूर्व यरूशलम उनकी राजधानी है। इसलिए हजारों की तादाद में फिलीस्तीनी इजरायल सीमा पर इस दूतावास का विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं।

Read Also:पाकिस्तानी बस ड्राइवर के बेटे साजिद जावेद बने ब्रिटेन के गृह मंत्री

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here