युवक का अपहरण कर लाठी-डंडे से पीटा, मरा समझकर रेलवे ट्रैक पर छोड़ गए

0
67

जयपुर। राजधानी के मालवीय नगर थाना इलाके में शुक्रवार देर रात एक युवक का अपहरण कर उसके साथ लाठी-डंडे से मारपीट कर बदमाश उसे मरा समझकर छोड़कर मौके से भाग गए। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और घायल को महात्मा गांधी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जहां हालत गंभीर होने पर उसे सवाई मान सिंह अस्पताल रैफर किया गया। पुलिस ने मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी यशराज जाट (28) निवासी भुसावर, भरतपुर और उसके सहयोगी गुड्डू जोगी को गिरफ्तार कर लिया है।

डीसीपी ईस्ट गौरव यादव ने बताया कि शुक्रवार रात्रि करीब 11 बजे सेक्टर 2 निवासी ईश्वर सैनी ने थाने पर सूचना दी थी कि उसके घर में किराए पर दिए हुए कमरे में खून बिखरा पड़ा है। जिस पर थानाधिकारी जयमल सिंह एवं एसीपी मालवीय नगर कावेंद्र सिंह सागर जाब्ते के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और वहां का जायजा लिया तो मालूम चला कि मकान में किराए पर रहने वाले राकेश परिहार तथा उसकी गर्भवती पत्नी कुछ दिन पूर्व से अपने गांव भिंड, मध्य प्रदेश गए हुए हैं।

राकेश का भाई श्याम परिहार जो यहां रहकर मजदूरी करता है वह शाम के बाद घर से गायब था। जिसको यशपाल जाट और गुड्डू जोगी अपहरण करके ले गए थे। जिसकी तलाश के लिए रात में सर्च अभियान चलाकर उसे सीतापुरा में रेलवे ट्रैक के पास से अधमरी हालत में पाया गया, जिसे महात्मा गांधी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जहां से गंभीर हालत होने पर उसे सवाई मान सिंह अस्पताल रैफर कर दिया गया। जहां उसका इलाज जारी है।

अवैध संबंधों के चलते हुई वारदात
एसीपी कावेंद्र सिंह सागर ने बताया कि आरोपी यशपाल जाट श्याम के पास में ही कमरा लेकर किराए से रहता था और यहां पर टैक्सी चलाता था। इस दौरान घायल श्याम के भाई राकेश की पत्नी के साथ आरोपी यशपाल जाट के अवैध संबंध बन गए थे। जिसका श्याम को एक दिन पता चल गया। जिसके बाद यशपाल ने श्याम को रास्ते से हटाने का मन ही मन प्लान बना लिया। शुक्रवार को श्याम दोपहर को अपने दोस्त के साथ शराब पीकर सो गया। रात को यशपाल ने आकर श्याम पर डंडे से हमला कर दिया और अपने मित्र गुड्डू योगी की मदद से उसको कार की डिक्की में डालकर शिवदासपुरा ले गया। वहां पर पत्थरों से हमला कर उसे मृत समझकर उसे रेलवे ट्रैक पर डालकर फरार
हो गया।

समय रहते पुलिस ने घायल को अस्पताल में कराया भर्ती
गिरफ्तार आरोपितों से पूछताछ में सामने आया कि वो श्याम को शिवदासपुरा में मारपीट कर मरा समझकर कहीं पटक आए हंै जिसके बारे में अब उनको नहीं पता है। जिसके बाद पुलिस ने दो घंटे लगातार मेहनत कर उस इलाके में जगह जगह घायल की तलाश की तब कहीं जाकर रेलवे ट्रैक पर वह पड़ा मिला। श्याम ने शराब भी पी रखी थी जिसके चलते कोई भी व्यक्ति यह मान सकता था कि शराब के नशे में व्यक्ति का एक्सीडेंट हुआ हो। यदि समय रहते पुलिस मौके पर नहीं पहुंचती तो शायद इलाज के अभाव में श्याम की मृत्यु हो जाती। फिलहाल इस प्रकरण में पुलिस की जांच जारी है।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...