यूपी में ट्रेन से टकराया ट्रक, इसलिए बच गईं हजारों जानें

हापुड़। भले ही विज्ञान में हमने कितनी ही तरक्की कर ली हो, लेकिन, आज भी कहीं पर मानव रहित फाटक तो कहीं खुले फाटक जान पर आफत बने हुए हैं। हालांकि, रेलवे मंत्रालय कई बार इस पर चिंता जता चुका है, लेकिन धरातल पर स्थितियां जस की तस बनी हुई हैं। ताजा मामला दिल्ली से सटे उत्तरप्रदेश के हापुड़ जिले का है। यहां पर फाटक खुला होने के चलते ट्रक रेलवे ट्रैक पर आ गया और इसी दौरान दनदनाती हुई ट्रेन आ गई। ट्रेन से ट्रक के परखच्चे उड़ गए। हादसे में एक ट्रेन ड्राइवर मुरादाबाद निवासी राजेश कुमार सक्सेना की मौत हो गई, जबकि सहचालक रति राम की गंभीर हालत बताई जा रही है। आरोपित ड्राइवर रेलवे ट्रैक के बीचों-बीच ट्रक को छोड़कर भाग गया। ट्रक के फंसने से राजधानी एक्सप्रेस सहित तीन ट्रेनें प्रभावित हुईं। बाद में ट्रक को आरपीएफ ने कब्जे में ले लिया था। वहीं, गनीमत रही कि दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद भी ट्रेन पटरी से नहीं उतरी अन्यथा यूपी में एक बार फिर एक और बड़े रेल हादसे में कई लोगों की जान जा सकती थी।

गेटमैन निलम्बित, जांच कमेटी गठित

सूत्रों का कहना है कि हादसा पिलखुवा में परतापुर रेलवे फाटक संख्या 85 पर हुआ, जहां मुरादाबाद से संभल के बीच चलने वाले डीएमयू ट्रेन (तीन कोच) मेंटीनेंस के लिए दिल्ली जा रहे थे। ट्रेन गुजरने के दौरान फाटक खुला हुआ था, जिससे ट्रक ट्रैक पर आ गया। इसी दौरान वहां आ रही ट्रेन से उसकी भीषण टक्कर हो गई। इस दुर्घटना में ट्रक के परखच्चे उड़ गए वहीं, ट्रेन के इंजन को भी काफी नुकसान पहुंचा है।
उधर, सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस और रेलवे के अधिकारी पहुंच गए। मामले में मंडल रेल प्रबंधक ने गेटमैन रफीक को निलंबित कर दिया। मामले की जांच के लिए कमेटी का गठन किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...