राजस्थान में चुनाव से पहले भाजपा को बड़ा झटका

0
260

जयपुर।  राजस्थान में विधानसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी को बड़ा झटका लगा है। राजस्थान में भाजपा की जाट नेता व पूर्व मंत्री उषा पूनियां ने बुधवार को इस्तीफा दे दिया। वह 2003 से 2008 के बीच राजस्थान सरकार में पर्यटन मंत्री रही थी। उन्होंने प्रदेशाध्यक्ष मदनलाल सैनी को भेजे इस्तीफे में कार्यकर्ताओं की उपेक्षा का आरोप लगाया है।

पूनियां ने कहा कि भाजपा कार्यालय मिलन स्थल बना हुआ है, जबकि सारा कामकाज सिर्फ सीएमओ के बंगला नंबर 13 सिविल लाईंस में सिमट गया है। यही नहीं इसके साथ ही जाट समाज के दिग्गज नेताओं व सदस्यों को भी महत्व नहीं दिया जा रहा है। इन जाट नेताओं में डॉ. ज्ञानप्रकाश पिलानियां, डॉ. हरिसिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री जगदीश धनखड़, रामसिंह कस्वां, पूर्व विधायक नारायण राम बेड़ा, जीतराम डूडी, रणवीर पहलवान, सुभाष महरिया व डॉ. बृजमोहन सहारण जैसे दिग्गज लोग है।

इस समय सरकारी नौकरशाही व राजशाही के चलते जाट समाज खुद को ठगा सा महसूस कर रहा है। इन हालातों के चलते इस पार्टी में बना रहना असंभव है। इसलिए मैं पार्टी से त्यागपत्र दे रही हूं। उन्होंने फिलहाल किसी भी पार्टी को ज्वाइन करने की बात से इंकार किया है।

पूर्व मंत्री उषा पूनियां ने बुधवार को पिंक सिटी प्रेस क्लब में पत्रकारों से मुखातिब होने के बाद भाजपा से इस्तीफा देने का एेलान किया। गौरतलब है कि 4 दिन पहले ही भरतपुर के बीजेपी नेता डॉक्टर मोहन सिंह चौधरी ने भी पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा देकर कांग्रेस ज्वाइन कर ली थी।

  • 2
    Shares

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...