राम मंदिर पर RSS का बड़ा बयान, कहा- हिंदुओं की भावनाओं का ख्याल रखे कोर्ट

0
35

मुंबई। राम मंदिर के मुद्दे पर संघ की ओर से सुरेश जोशी ने शुक्रवार को प्रेस के सामने पक्ष रखा। उन्होंने कहा कि राम मंदिर बनाने में कुछ कानूनी अड़चन हैं। उम्मीद है कि कोर्ट हिन्दू समाज की भावनाओं को समझकर इस मामले पर न्याय करेगा। जोशी ने कहा कि दीवाली पर हम कुछ शुभ समाचार सुनने की अपेक्षा कर रहे थे। कोर्ट में भी यह मामला काफी समय से लंबित है। हालांकि, जोशी ने भी कहा कि कोर्ट इस मामले में कितना समय लेती है इस पर वे टिप्पणी नहीं करेंगे।

संघ विचारक और भाजपा सांसद राकेश सिन्हा की ओर से प्राइवेट मेंबर बिल लाए जाने के सवाल पर सुरेश जोशी ने कहा, ‘राम मंदिर निर्माण को लेकर जिन्होंने अध्यादेश लाने की मांग की है। ये उनका अधिकार है।’ उन्होंने आगे कहा कि राम मंदिर निर्माण को लेकर सरकार अध्यादेश लाएगी या नहीं लाएगी इसका फैसला सरकार को करना होगा।

इससे पहले सुबह, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने संघ प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात की। दोनों के बीच करीब घंटाभर तक चर्चा हुई। माना जा रहा है कि इस दौरान राम मंदिर के मुद्दे को लेकर ही बात हुई है। अमित शाह देर रात ही महाराष्ट्र पहुंच गए थे। शुक्रवार सुबह वे भयंदर पहुंचे हैं। यहीं पर तीन दिनों से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की बैठक चल रही थी। बैठक के बाद सुरेश जोशी ने पत्रकारों को संबोधित किया और राम मंदिर को लेकर सवालों का जवाब दिया।

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने राम मंदिर की सुनवाई जनवरी तक के लिए टाल दी है। तभी से संघ और भाजपा के कई नेताओं समेत हिंदू संगठन और संत समाज सरकार पर राम मंदिर बनवाने के लिए दबाव बनाने में जुटा है। संघ प्रमुख भागवत तो राम मंदिर के लिए अध्यादेश तक लाने की सलाह दे चुके हैं। हालांकि, अभी सरकार की ओर से मुद्दे पर कोई स्पष्ट प्रतिक्रिया नहीं आई है।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...