लंदन में पीएम मोदी ने की भारतीयवासियों से दिल की बात

0
37
लंदन। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चार दिन के विदेश यात्रा के तहत लंदन पहुंचे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लंदन के वेबमिंस्टर हॉल में बड़ी संख्या में वहां रह रहे प्रवासी भारतीयों को संबोधित किया। इस मौके पर उन्होंने तमाम मुद्दों पर अपनी बात खुलकर रखी। जिस तरह से तमाम विपक्षी दल और लोग प्रधानमंत्री की आलोचना करते हैं उसपर भी पीएम मोदी ने खुलकर अपनी बात रखते हुए कहा कि यह मेरी ऊर्जा का राज है। पीएम मोदी ने कहा कि मेरे भीतर ऊर्जा का राज दो दशकों से हर रोज मिल रही एक-किलो गालियां हैं। इन गालियों से मुझे ऊर्जा मिलती है। भारत की बात सबके साथ कार्यक्रम के दौरान प्रसून जोशी ने पीएम से  सवाल पूछे, आपके भीतर यह फकीरी कहां से आई तो उन्होंने कहा कि यह बहुत ही व्यक्तिगत सवाल है। यह फकीरी मेरे मन की अवस्था है।
सर्जिकल की सबसे पहले पाकिस्तान को सूचना:
 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लंदन के वेस्टमिंस्टर सेंट्रल हॉल में बुधवार रात ‘भारत की बात, सबके साथ’ खास कार्यक्रम में उन्होंने खुलासा किया कि सर्जिकल स्ट्राइक के बाद सबसे पहले पाकिस्तान को जानकारी दी गई थी और उसे कहा था कि वक्त हो तो शव ले जाओ। इसके बाद भारत की जनता को जानकारी दी गई। इस खुलासे के साथ ही मोदी ने कहा कि आतंक का निर्यात करने वालों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। भारत की पीठ में वार किया तो उसी तरीके से जवाब दिया जाएगा।
मै इंसान हूं मुझसे गलतियां होती हैं:
पीएम ने कहा कि देश में सतही बदलाव से कुछ नहीं होगा। वक्त की मांग है कि विकास को जनांदोलन बनाया जाए। उन्होंने कहा, ‘मैं भी आपकी तरह आम इंसान हूं। मुझसे गलतियां हो सकती है, लेकिन मैं इरादे से गलत नहीं हूं।’
दुष्कर्म पर राजनीति नहीं होनी चाहिए:
 वेस्टमिंस्टर के सेंट्रल हॉल में ‘भारत की बात सबके साथ’ कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने उन्नाव व कठुआ कांड के संदर्भ में कहा- दुष्कर्म, दुष्कर्म है, इसका राजनीतिकरण नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमें हमारे बेटे-बेटियों से हमेशा पूछना चाहिए कि वे कहां जा रहे हैं, क्या कर रहे हैं। जो अपराध करता है वह भी किसी का बेटा है। हाल की वारदातों पर उन्होंने कहा कि दुष्कर्म देश के लिए शर्म की बात है। हम अपनी बेटियों के ऐसे शोषण को किस तरह बर्दाश्त कर सकते हैं? कार्यक्रम में एंकर और सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष प्रसून जोशी ने मोदी से सवाल किए।
घर जैसा खाना:
 पीएम के स्वास्थ्य का ख्याल रखते हुए उनके नाश्ते और दोपहर के खाने का विशेष प्रबंध किया गया। बकिंघम गेट के सेंट जेम्स कोर्ट ताज होटल के एग्जिक्यूटिव शेव शिनॉय करमानी को मोदी के लिए घर जैसा खाना पकाने की खास जिम्मेदारी दी गई है। प्रधानमंत्री ने ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरीजा मे के साथ नाश्ता किया। करमानी ने बताया कि उनकी टीम के 8 सदस्यों ने प्रधानमंत्री मोदी और प्रतिनिधि मंडल के लिए चाय, कॉफी, पोहा, उपमा, पूरी, भाजी और सीरा बनाया। इसके बाद मोदी प्रतिनिधि मंडल के साथ बकिंघम के ताज होटल में लंच किया। इस दौरान गुजराती खाना खमण, ढोकला, खांडवी, दाल, दाल पकौड़ा, तरोई मसाला, स्टफ्ड करेला, पनीर भुर्जी और खिचड़ी को पूरा भोजन शुद्ध मक्खन में बना ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...