लालू यादव बनवा रहे थे 750 करोड़ के मॉल

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के परिवार का निर्माणाधीन मॉल को प्रवर्तन निदेशालय (ED)ने सील कर दिया है. आय से अधिक संपत्ति मामले में कोर्ट के आदेश पर यह कार्रवाई की गई.

लालू का ये मॉल पटना के बेली रोड स्थित सगुना रोड पर बन रहा था.

750 करोड़ की लागत से तीन एकड़ (115 कट्ठा) जमीन पर बन रहा यह मॉल बिहार का

सबसे बड़ा मॉल माना जा रहा था. हालांकि इस जमीन को ईडी ने पिछले साल ही 9 दिसंबर को ही अंतरिम रूप से जब्त कर लिया था.

जब मॉल बना मुसीबत

लेकिन मंगलवार को निर्माणाधीन साइट के बाहर ईडी की टीम द्वारा जब्ती का नोटिस चस्पा करते

ही लालू परिवार आय अधित संपत्ति मामले को लेकर एक बार फिर चर्चा में आ गया है.

750 करोड़ की लागत से इस मॉल का मालिकाना हक के बारे में खुलासा हुआ तो सब सन्न रह गए.

क्योंकि वैसे तो लालू हमेशा से खुद को गरीबों का मसीहा बताते आए हैं.

इस खुलासे के साथ ही लालू परिवार बैकफुट पर आ गया था.

यह वही जमीन है जिसे लेकर लालू प्रसाद के खिलाफ सीबीआई, आयकर विभाग और ईडी ने अलग-अलग केस दर्ज कर रखा है.

जब पड़ी ईडी की नजर

जैसे-जैसे इस जमीन को लेकर जांच बढ़ती गई, कई बड़े खुलासे हुए.

जमीन पर बिहार का सबसे बड़ा मॉल बन रहा था, तो इसपर विपक्ष की भी नजर थी. खासकर बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी आए दिन इस मामले को लेकर तरह-तरह के खुलासे कर रहे थे. और लालू परिवार घिरता जा रहा था.

क्योंकि इस मामले का जब खुलासा हुआ था बिहार में जेडीयू-आरजेडी की सरकार थी.

ऐसे में लगातार नीतीश कुमार के सुशासन पर सवाल उठ रहे थे. सुशील मोदी ने बताया था

कि साल 2017 में इस जमीन का सर्किल रेट 44.7 करोड़ रुपये है,

लेकिन इसे लालू यादव की कंपनी लारा प्रोजेक्ट ने वर्ष 2005-06 में महज 65 लाख रुपये में खरीदी थी.

जांच बढ़ते ही लालू परिवार की मुसीबत बढ़ी

बिहार का सबसे बड़े निर्माणाधीन पर मॉल पर जब पिछले साल मई में पर्यावरण विभाग की नजर पड़ी

तो विभाग की ओर से तुरंत निर्माण पर रोक का फरमान जारी कर दिया गया.

इसका कारण यह बताया गया था कि मॉल बनाने से पहले पर्यावरण विभाग से मंजूरी नहीं ली गई थी.

इसी बीच सीबीआई ने पूरे मामले की जांच शुरू की और राबड़ी देवी के आवास पर छापेमारी भी की.

इसके बाद यह मामला ईडी के पास चला गया और प्रीवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत अवैध संपत्ति के खिलाफ कार्रवाई करने की प्रक्रिया शुरू हो गई.

कुछ ऐसा होता मॉल

खबरों की मानें तो आरजेडी के विधायक अबु दोजाना की कंपनी ही इस पर मॉल का निर्माण करवा रही थी.

पता चला कि ये 12 मंजिला मॉल बनने था.

जिसमें 2 बेसमेंट सहित इस मॉल में 5 स्टार होटल, मल्टीप्लेक्स, शॉपिंग मॉल, ऑफिस टॉवर और करीब एक हजार दुकानें बननी थीं.

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...