लाश को ठिकाने लगाने के लिए 3 दिनों तक प्लान बनाया।

गाजियाबाद/दिल्ली। गाजियाबाद में एक शख्स ने पहले अपनी प्रेमिका का खून किया और फिर 3 दिनों तक प्रेमिका की लाश के साथ ही घर में कैद रहा। लाश के साथ ही सोया और लाश के पास ही बैठकर खाना खाया। जाने क्या था पूरा मामला…।

गाजियाबाद के खोड़ा इलाके में बुधवार को एक युवती की लाश स्विफ्ट गाड़ी में पड़े बैग में बरामद हुई। महिला की पहचान ज्योति वर्मा के रूप में हुई। ज्योति लुधियाना की रहने वाली थी। मामले में पुलिस ने गुरुवार को शिवम नाम के आरोपी को गिरफ्तार किया है।

शिवम के बारे में बताया जा रहा है कि वह ज्योति का प्रेमी है। कुछ महीने पहले उसने लुधियाना से ज्योति को यहां बुला लिया था और खोड़ा इलाके में किराए पर रह रहा था। आरोपी शिवम के बारे में बताया जा रहा है कि वह विवो कंपनी में काम करता है और ज्योति लैक्मे के सलून में काम करती थी।

9 तारीख की रात को ही शिवम ने ज्योति की हत्या कर दी थी। उस रात को ज्योति देरी से घर आई थी और शिवम उसके कैरेक्टर पर शक कर रहा था। युवक 12 तारीख की रात को लाश को छुपाने के लिए निकला था लेकिन लोगों की भीड़ लग गई। युवक Swift गाड़ी वहीं छोड़कर फरार हो गया था।

शिवम और ज्योति दोनों लिव इन रिलेशनशिप में रहते थे। हैरत की बात यह है कि 9 तारीख की रात को हत्या करने के बाद आरोपी ने ज्योति की लाश को ठिकाने लगाने के लिए 3 दिनों तक प्लान बनाया। वह घर में ही ज्योति की लाश के साथ रहा। उसी के साथ सोया और उसी लाश के पास बैठकर उसने खाना भी खाया।

3 दिनों के प्लान के बाद उसने लाश को बैग में डाला और ठिकाने लगाने के लिए चल दिया। लेकिन जैसे ही वो स्विफ्ट गाड़ी में बैठा, लाश से दुर्गंध आने लगी और उसकी करतूत सामने आ गई। पुलिस ने गाड़ी का शीशा तोड़कर लाश वाला बैग बाहर निकाल लिया। इसके बाद गाड़ी के नंबर से शिवम के पते तक पहुंच गई और फिर शिवम पकड़ा गया। शिवम भी पंजाब का रहने वाला है और फेसबुक से उसकी ज्योति से दोस्ती हुई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...