वर्ल्ड हार्ट डे 2018 : इन 4 आसनों की मदद से दिल की बीमारियों को रखें दूर

0
58

करता है रक्त का शुद्धिकरणदिल दुरुस्‍त तो जीवन खुशहाल रहेगा। इसके लिए जरूरी है कि आप अपने दिल की सेहत का ध्‍यान रखिए। आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में सेहत कहीं पीछे छूट जाती है। ऐसे में बहुत कम उम्र में लोगों को दिल से जुड़ी गंभीर बीमारियां अपना शिकार बना लेती हैं। थोड़ा सा समय निकालकर आप योग की मदद से अपने दिल की सेहत दुरुस्‍त रख सकते हैं। आइए जानते हैं कैसे

सर्वांगासन : इस आसन में पहले पीठ के बल सीधा लेट जाएं फिर दोनों पैरों को मिलाएं हाथों की हथेलियों को दोनों ओर जमीन से सटाकर रखें। अब सांस अन्दर भरते हुए आवश्यकतानुसार हाथों की सहायता से पैरों को धीरे-धीरे 30 डिग्री, फिर 60 डिग्री और अन्त में 90 डिग्री तक उठाएं। इससे आपकी पाचन शक्ति ठीक रहती है और रक्त का शुद्धिकरण होता है।दिल का तनाव करता है कम

स्वस्तिकासन : दरी या कंबल बिछाकर बैठ जाएं। इसके बाद दाएं पैर को घुटनों से मोड़कर सामान्य स्थिति में बाएं पैर के घुटने के बीच दबाकर रखें और बाएं पैर को घुटने से मोड़कर दाएं पैर की पिण्डली पर रखें। फिर दोनों हाथ को दोनों घुटनों पर रखकर ज्ञान मुद्रा बनाएं। ज्ञान मुद्रा के लिए तीन अंगुलियों को खोलकर तथा अंगूठे व कनिष्का को मिलाकर रखें। अब अपनी दृष्टि को नाक के अगले भाग पर स्थिर कर मन को एकाग्र करें। अब 10 मिनट तक इस अवस्था में बैठें। इस योग से एकाग्रता बढ़ती है साथ ही हृदय का तनाव कम होता है।कम से कम 5 बार करें अभ्‍यास

ताड़ासन : पैरों को एक साथ मिलाकर खड़े हो जाएं। अब पंजों पर जोर देते हुए धीरे-धीरे ऊपर उठें और दोनों हाथों को मिलाकर ऊपर की ओर तान दें।  इस अवस्था में पूरे शरीर का भार पैरों के पंजों पर होगा और पूरे शरीर को सीधा ऊपर की ओर तानेंगे। इसे करते समय पेट को अंदर की ओर खींचना चाहिए तथा सीना बाहर की ओर तना हुआ रहना चाहिए। कमर-गर्दन बिल्कुल सीधी रखें। इस आसन का अभ्यास कम से कम 5 बार करें।हृदय गति रहती है सामान्य

शीर्षासन : दोनों घुटने जमीन पर टिकाते हुए फिर हाथों की कोहनियां जमीन पर टिकाएं। फिर हाथों की अंगुलियों को आपस में मिलाकर ग्रिप बनाएं, तब सिर को ग्रिप बनी हथेलियों को भूमि पर टिका दें। इससे सिर को सहारा मिलेगा। फिर घुटने को जमीन से ऊपर उठाकर पैरों को लंबा कर दें। फिर धीरे-धीरे पंजे टिकाएं और दोनों पैरों को पंजों के बल चलते हुए शरीर के करीब अर्थात सिर के नजदीक ले आते हैं और फिर पैरों को घुटनों से मोड़ते हुए उन्हें धीरे से ऊपर उठाते हुए सीधा कर देते हैं तथा पूर्ण रूप से सिर के बल शरीर को टिका लेते हैं। इससे ब्लड सर्कुलेशन सही रहता है साथ ही हृदय गति सामान्य रहती है।

गूगल करेगी एपल को 3 अरब डॉलर का भुगतान

————————————————————————-

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...