वसुंधरा सरकार बौखला गई: मेवाणी

नागौर। गुजरात में भाजपा को हराने के लिए जिग्नेश मेवाणी और हार्दिक पटेल ने कांग्रेस के साथ गठजोड़ किया था। इस गठजोड़ ने एक बार तो भाजपा आलाकमान के भी पसीने छुड़ा दिए थे। हालांकि, भाजपा गुजरात में इनके चक्रव्यूह को तोडऩे में कामयाब रही और पूर्ण बहुमत प्राप्त किया।

चूंकि, अब राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में कुछ माह बाद ही विधानसभा चुनाव होने हैं, ऐसे में गुजरात के विधायक और दलित नेता जिग्नेश मेवाणी राजस्थान में सक्रिय हो गए हैं।

उन्होंने ऐलान किया है कि वे भाजपा के खिलाफ प्रचार करेंगे और दलित समाज के लोगों को भाजपा को वोट नहीं देने की प्रतिज्ञा दिलाएंगे। इसी के तहत जिग्नेश मेवाणी ने दलित समाज के लोगों को भाजपा को वोट नहीं देने और दलित युवाओं को आरएसएस की शाखाओं में नहीं जाने का आह्वान किया है।
मेवाणी नागौर के लाडनूं में होने वाली सभा में भाग लेने वाले थे, लेकिन प्रशासन की सख्ती के चलते और धारा 144 लागू होने की वजह से प्रशास ने उन्हें लाडनूं में होने वाली सभा में भाग नहीं लेने दिया।

सभा में नहीं जा पाने से नाराज जिग्नेश मेवाणी ने पहले डीडवाना में दलित समाज के लोगों के साथ मुलाकात की और उसके बाद नागौर में दलित समाज के लोगों से मुलाकात की। इसके बाद उन्होंने मीडिया से मुलाकात की और कहा कि प्रदेश की वसुंधरा सरकार उनसे बौखला गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...