वार्ड कार्यालयों में नहीं हो रहा आमजन की समस्याओं का समाधान

0
101

जयपुर। आमजन के महत्वपूर्ण कार्य निपटाने को लेकर शहर के विभिन्न मोहल्लों एवं कॉलोनियों में स्थापित किए गए वार्ड कार्यालय में जनता की सामान्य समस्याओं का भी निस्तारण नहीं हो पा रहा है। इससे लोग नगर निगम मुख्यालय के चक्कर काटने को मजबूर हो रहे हैं। करीब दो वर्ष पूर्व वार्ड कार्यालयों में ही जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र के आवेदन पत्र की उपलब्धता एवं जमा करवाने, यूडी टैक्स, सीवरेज कनेक्शन सहित अन्य कई कार्यों के निस्तारण को लेकर निगम प्रशासन ने वार्ड कार्यालय शुरू करने की विस्तृत कार्य योजना बनाई थी।

इसके लिए तय किया गया था कि शहर में सभी वार्डों पर जल्दी ही वार्ड कार्यालय बनाए जाएंगे और उन पर काम शुरू किया जाएगा। स्थिति यह है कि अधिकांश वार्डों में वार्ड कार्यालय ही नहीं बनाए गए हैं और जिन वार्डों में इनकी सुविधा उपलब्ध है वहां निगम की ओर से निर्धारित आमजन के कोई भी कार्य नहीं निपटाए जा रहे हैं।

जबकि इनकी स्थापना को लेकर यह भी निर्णय लिया गया था कि नगर निगम एडमिनिस्ट्रेशन का डी सेंट्रलाइजेशन इन वार्ड कार्यालय तक किया जाएगा। ताकि आमजन को जोन व मुख्यालय कार्यालयों पर चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। परिसीमन के बाद वार्डों की तस्वीर बदली पर हालत जस की तस शहर में वार्डों का परिसीमन होने के बाद 91 वार्ड बन गए हैं, लेकिन अभी तक कई पुराने व नए वार्डों में वार्ड कार्यालय ही नहीं बने हैं। इसे लेकर पूर्ववर्ती महापौर ने सभी जगह वार्ड कार्यालय बनाने के निर्देश दिए थे।

उम्मीद जताई जा रही थी कि वार्ड कार्यालय बनने के बाद यहां इन सभी कार्यों के लिए सुविधाएं विकसित की जाएंगी। वार्ड कार्यालय नहीं बनने से आमजन को निगम कार्यालय के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं।

इससे निगम की विभिन्न शाखाओं में कामकाज का बोझ बढ़ता जा रहा है। प्रतिपक्षी पार्षदों का कहना है कि यदि समय रहते वार्ड कार्यालय खुल जाते तो निगम कर्मचारियों के कार्यभार में काफी कमी आएगी और आमजन के कामकाज त्वरित औैर आसान तरीके से हो सकेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...