वाहनों का धुआं बन रहा दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण की वजह : हरजीत सिंह

0
28
जहां एक तरफ पूरा भारत राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस मना रहा है, वहीं दिल्ली में प्रदूषित वायु दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है।
पहले वाहन कम होते थे, इसलिये ये वायु प्रदूषण का इतना कारण नहीं बनते थे, जबकि पहले उद्योग इसके पीछे की वजह होते थे. यदि आज की बात की जाए तो वाहनों की संख्या काफी बढ़ गई है, जिससे अब ये बढ़ते प्रदूषण का अहम कारण बन गये हैं. अब 30 प्रतिशित प्रदूषण का कारण केवल वाहनों से निकने वाला धुआं ही है.’
उन्होंने कहा, ‘हाल ही में, विश्लेषण से पता चलता है कि अन्य वाहनों की अपेक्षा टैक्सियों से निकलने वाला धुआं प्रदूषण का सबसे बड़ा कारण है। ‘

जब उनसे पूछा गया कि क्या सरकार ने इस खतरे से निपटने के लिए पर्याप्त काम किया है, तो उन्होंने कहा, ‘सरकार ने इससे निपटने के लिये अभी तक कोई पर्याप्त काम नहीं किया है. उन्होंने सार्वजनिक परिवहन प्रणाली में उचित रूप से निवेश नहीं किया है जो वायु गुणवत्ता में सुधार का एकमात्र तरीका है। ‘

उन्होंने कहा, ‘लोगों को सुबह और शाम वॉक करने से परहेज करना चाहिए, क्योंकि उस समय धूल के हानिकारक कण अधिक मात्रा में होते हैं. लोगों को घरों में अधिक से अधिक पेड़ लगाने चाहिए, जिससे प्रदूषण में कमी आए.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...