वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए लालू की पेशी, सजा ऐलान से पहले राजद मुखिया ने पार्टी को भेजा संदेश

0
215
lalu yadav case hearing
lalu yadav case hearing video confrencing

डोरंड कोषागार से 97 लाख रूपए निकालने के मामले में राजद मुखिया लालू यादव की शनिवार को पेशी होनी थी, लेकिन सीबीआई गवाह के अनुपस्थित रहने के चलते लालू को आज कोर्ट में नहीं लाया गया। ऐसे में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए लालू यादव की सुनवाई की गई।

लालू यादव के वकील चितरंजन सिन्हा ने कहा कि जज शिवपाल सिंह वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए शनिवार दोपहर 2 बजे सजा की घोषणा करेंगे।

आपको बता दें कि देवघर कोषागार से 89 लाख रूपए फर्जी तरीके से निकाले जाने के मामले में सीबीआई की विशेष अदालत ने लालू यादव सहित 16 लोगों को दोषी करार दिया है।

सजा ऐलान से पहले लालू का पार्टी कार्यकर्ताओं को संदेश

शनिवार को सीबीआई की विशेष कोर्ट की ओर से सजा सुनाने से पहले राजद मुखिया लालू यादव ने रांची के बिरसा मुंडा जेल से पार्टी के लिए एक संदेश भेजा है।

लालू यादव ने अपने संदेश में लिखा है कि वंचितों तथा दलितों के उत्थान के लिए हम सभी ने जो लड़ाई लड़ी, उन्हीं लोगों ने ही हमें साजिश के तहत फंसाया है। मकर संक्रांति के बाद राजद कार्यकर्ता लालू यादव के इस संदेश को लेकर बिहार की यात्रा पर निकलेंगे।

इधर लालू की पत्नी तथा बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी ने अपने निवास पर पार्टी बैठक बुलाई है। जिसमें हिस्सा लेने के लिए राजद के सीनियर लीडर पटना पहुंच रहे हैं।

लालू के वकील ने जज से की यह अपील

लालू यादव के वकील चितरंजन प्रसाद ने जज से अपील करते हुए कहा कि राजद मुखिया 70 साल के हो चुके हैं। ऐसे में उनकी शारीरिक अस्वस्थ्यता को देखते हुए कम से कम सजा दी जाए।

लालू के वकील ने कहा कि लालू शारीरिक रूप से कमजोर हो चुके हैं, तथा उन्हें हाईपर टेंशन तथा मधुमेह की बीमारी है। बताया जा रहा है कि वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिए सुनवाई के समय लालू यादव मूक बने रहे।

सीबीआई अधिवक्ता का बयान

लालू के वकील के बयान का पुरजोर विरोध करते हुए सीबीआई अधिवक्ता ने कहा कि लालू यादव राजनीतिक रैलियां कर रहें हैं और भाषण देने में पूरी तरह से सक्षम हैं। ऐसे में यह कहना कि वे काफी समय से बीमार हैं, बिल्कुल लीजिमी नहीं है। जेल में सभी स्वास्थ्य सुविधाएं मौजूद हैं, अत: लालू यादव को ज्यादा से ज्यादा सजा दी जाए।

लालू को हो सकती है 3 से 4 साल की सजा

23 दिसंबर को सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने राजद मुखिया को चारे घोटाले में दोषी करार दिया था। सीबीआई अधिवक्ताओं का कहना है कि राजद प्रमुख लालू यादव को तीन से चार साल तक की सजा हो सकती है। बताया जा रहा है कि लालू यादव को सजा सुनाए जाने के बाद उनकी तत्काल जमानत भी हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...