व्हेल और डॉल्फिन की पहली संकर संतान ‘व्हाल्फिन’

0
113

हवाई। वैज्ञानिकों का कहना है कि हवाई प्रांत में तरबूज के सिर जैसी डॉल्फिन और मोटे दांत वाली डॉल्फिन के संभोग से एक वर्णसंकर संतान ने जन्म लिया है। अभियान के प्रमुख समुद्री जीवविज्ञानी डॉ. रॉबिन बेयरड के मुताबिक यह वर्णसंकर संतान नर है और इसे ‘व्हाल्फिन’ कहा जाता है। इसकी उम्र व्यस्क के करीब है। पिछले साल कूई द्वीप के पास डॉल्फिन के साथ इसे तैराकी करते हुए देखा गया था।

ऐसा मामला दुर्लभ

कास्काडिया रिसर्च कलेक्टिव के शोधकर्ताओं का कहना है कि अपनी असामान्य उपस्थिति के चलते यह

किसी भी जीव को अपनी ओर तुरंत आकर्षित कर सकते हैं।

तरबूज के सिर वाली व्हेल तकनीकी रूप से डॉल्फिन ही है। यह डेल्फीनिडे परिवार से सम्बंधित है।

डेल्फीनिडे में संकर मिलना बहुत दुर्लभ है।

इन प्रजातियों का पहला संकर

यह इन दो प्रजातियों के बीच पहला संकर माना जाता है। यद्यपि कारावास में कई व्हील्फिन पैदा हुए हैं।

इनमें से कुछ बढऩे और फिर से प्रजनन करने चले गए।

वैज्ञानिक इस शब्द का प्रयोग करने के इच्छुक नहीं हैं।

डॉ. बेयर ने कहा कि अधिक संकरण के बिना जानवरों की नई प्रजाति नहीं मानी जा सकती है।

उन्होंने कहा कि बिना मतलब लगाए इसे बस ‘व्हाल्फिन’ कहकर बुलाओ।

1985 में हुआ था व्हाल्फिन शब्द का पहली बार इस्तेमाल

इस शब्द को पहली बार वर्ष 1985 में हवाई सागर लाइफ पार्क में एक झूठे हत्यारे व्हेल और

अटलांटिक बोटनोज वाली डॉल्फिन के संभोग से पैदा हुए एक संकर के लिए इस्तेमाल किया गया था।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...