शिखर बैठक में रोडा बने तीन सैन्य जनरलों को किम ने हटाया

प्योंगयांग। उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग ने अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के साथ प्रस्तावित शिखर बैठक से पहले अपने शीर्ष तीन सैन्य जनरलों को उनके पदों से हटा दिया है।

बताया जाता है कि परमाणु निरस्त्रीकरण पर किम जोंग और सेना की अलग-अलग राय थी। किम जोंग चाहते हैं परमाणु निरस्त्रीकरण के बदले उनके यहां विकास हो,

लेकिन, कुछ सैन्य प्रमुखों का मानना है कि उनकी आजादी के लिए परमाणु शक्ति होना जरूरी है।

ऐसे में ट्रम्प के साथ होने वाली शिखर बैठक से पहले किसी भी तरह का असंतोष ना उपजे,

इसलिए किम जोंग ने इन तीनों को पद से हटा दिया है। किम नहीं चाहते कि किसी भी स्थिति में शिखर बैठक रद्द हो।

सबसे कड़ा कदम

दक्षिण कोरिया की योनाप समाचार एजेंसी ने भी कहा कि तीनों सैन्य जनरलों को हटा दिया गया है।

विशेषज्ञों का कहना है कि किम की ओर से कोरियाई पीपुल्स आर्मी (केपीए) पर उठाया गया

यह अब तक का सबसे कड़ा कदम है। इससे पता चलता है कि

कोरिया अपने यहां आर्थिक विकास शुरू करने और दुनिया के साथ जुडऩे के प्रयासों का भरपूर समर्थन करता है।

केपीए को सीमा में रखना होगा

अंतरराष्ट्रीय मामलों में समूह के निदेशक केन गोज ने कहा कि यदि किम जोंग अमरीका और

दक्षिण कोरिया के साथ शांति चाहते हैं और परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए तैयार हैं तो उन्हें केपीए को सीमा में रखना पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि ट्रम्प ने शिखर बैठक रद्द करने के बाद फिर से इसे पुनर्जीवित किया।

पुतिन ने भी मिलेंगे किम

उन्होंने कहा कि किम के साथ सिर्फ ट्रम्प ही नहीं मिलेंगे।

शायद रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन भी इस साल के अंत तक किम के साथ बैठक करें।

रिया न्यूज एजेंसी ने राजनयिक स्रोतों का हवाला देते हुए कहा है कि

रूस के पूर्वी व्लादिवोस्तोक शहर में सितम्बर के दौरान दो राजनेता मिलेंगे।

Read Also:
  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...