श्रीलंका में हिंसा भड़की, लगाई इमरजेंसी

0
127

कोलम्बो। बौद्ध भिक्षु अनुयायी की मौत और मुस्लिम व्यापारी को आग लगा देने की घटना के बाद श्रीलंका के कैंडी शहर से शुरू हुई साम्प्रदायिक हिंसा पूरे देश में भड़क उठी। हिंसा के दौरान अब तक 4 मस्जिद, 37 घर, 46 दुकानें और 35 वाहनों को नुकसान पहुंचाया जा चुका है। हिंसा में अभी तक दो लोगों की जान जा चुकी है। इसके बाद सरकार ने हिंसा पर लगाम लगाने के लिए सात दिनों के लिए इमरजेंसी लगा दी है। हिंसा पर नियंत्रण के लिए दो दर्जन से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया गया है।
न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक इस हिंसा में मुस्लिम समुदाय से जुड़ी चीजों को निशाना बनाया जा रहा है। इस बारे में संसद में राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे ने बताया कि ड्राइवर की मौत के बाद स्थानीय बौद्ध और मुस्लिम समुदाय के बड़े बुजुर्ग वार्ता के जरिए तनाव को कम करने में लगे हुए हैं। हिंसा फैलाने में बाहरी तत्वों का हाथ है। बाहर से आए लोगों ने हिंसा भड़काई और सुनियोजित तरीके से तोडफ़ोड़ को अंजाम दिया। हाल ही के दिनों में देश में मुस्लिम विरोधी हिंसा बढ़ी है। देश की बहुसंख्यक आबादी सिंघली बौद्धों की है और वे राष्ट्रवाद को बढ़ावा दे रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...