सुप्रीम कोर्ट ने नेताओं को दी जुबान संभालने की हिदायत

नई दिल्ली। सुर्खियां बटोरने के लिए एक-दूसरे पर अमर्यादित टिप्पणी करने वाले नेताओं को सुप्रीम कोर्ट ने चेतावनी दी है। सुप्रीम कोर्ट ने ऐसे नेताओं को जुबान संभालने की हिदायत दी है। खासतौर से सुप्रीम कोर्ट ने विपक्षी पार्टियों के नेताओं को कहा है कि वे अपमानजनक भाषा का प्रयोग करने से बचें। सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल से जुड़े मामले में यह टिप्पणी की है। दिल्ली में सीलिंग की कार्रवाई को लेकर अरविंद केजरीवाल के खिलाफ प्रदर्शन हुए थे। जस्टिस मदन बी. लोकुर और दीपक गुप्ता की बेंच ने इस दौरान केजरीवाल के खिलाफ इस्तेमाल की गई अपमानजनक भाषा की कड़ी आलोचना की है।
सीलिंग के दौरान भाजपा नेताओं ने सीएम के खिलाफ तख्तियों पर आपत्तिजनक भाषा लिखकर विरोध जताया था। ऐेेसे में कोर्ट ने कहा कि इस तरह की भाषा बर्दाश्त नहीं हो जाएगी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि संवैधानिक पदों पर आसीन लोगों को सम्मान दिया जाना चाहिए। उन्होंने विपक्षी पार्टी के नेताओं से कहा कि आप सीएम के खिलाफ कुछ भी बोल रहे हैं। क्योंकि, वे आपकी पार्टी के नहीं है। अगर इन्हें नहीं रोक गया तो दूसरे राज्यों के सीएम और फिर पीएम के खिलाफ भी ऐसी ही भाषा प्रयोग में लाई जाएगी। हम लोगों को यह गलत परिपाटी शुरू करने नहीं देंगे। बेंच ने यह भी कहा कि सीलिंग की कार्रवाई सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर हुई थी। इसमें दिल्ली के सीएम का कुछ भी लेना-देना नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...