सौर ऊर्जा नीलामी पर खतरे के बादल

नई दिल्ली। सौर ऊर्ज़ा उपकरणों पर 70 प्रतिशत बचाव शुल्क लगाए जाने को लेकर अनिश्चितता तथा

एक राज्य से दूसरे राज्य के बीच पारेषण प्रणाली को मंजूरी

मिलने संबंधी चिताओं के कारण सौर ऊर्ज़ा की नीलामी के एकबार फिर टलने की आशंका है।

उद्योग जगत के सूत्रों ने इसकी जानकारी दी।सार्वजनिक कंपनी एनटीपीसी

ने दो हजार मेगावाट सौर ऊर्ज़ा क्षमता की नीलामी पिछले महीने जून के पहले सप्ताह तक के लिए टाल दिया था । हालांकि उसने जून के पहले सप्ताह में भी नीलामी नहीं की।सूत्र ने कहा, ‘एक राज्य से दूसरे राज्य के बीच पारेषण

प्रणाली को मंजूरी मिलने के मुद्दे का अब तक निस्तारण नहीं हो पाया है तथा नवीन एवं

नवीकरणीय ऊर्ज़ा मंत्रालय के साथ वार्ता भी अभी जारी है। इनके अलावा 70 प्रतिशत बचाव

शुल्क पर भी अभी सरकार विचार ही कर रही है। इस कारण नीलामी के एक और बार टल जाने की आशंका है।’

Read Also:
  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...