स्कूली बच्चे रोपेंगे नीम, होगी कमाई

महानगर संवाददाता
जयपुर। आयुर्वेद और प्राकृतिक खेती में रामबाण साबित नीम का अस्तित्व बचाने के लिए सरकारी एजेंसी इफ्को ने अनूठी पहल की है।
एजेंसी द्वारा प्रदेशभर में स्कूली बच्चों के माध्यम से नीम की खेती करवाई जाएगी। सरकारी एजेंसी का यह पहला कदम है।

पौधरोपण की शुरुआत हो चुकी है। इसके लिए स्कूलों में छात्रों को प्रदेशभर में

एजेंसी द्वारा एक लाख पौधे वितरित किए गए हैं। इफ्को के अधिकारियों के

अनुसार प्रोजेक्ट सफल रहा तो अगले वित्तीय वर्ष में प्रदेशभर में प्रत्येक स्कूल

में पौध वितरण का टारगेट तय किया जाएगा। खास बात ये है कि नीम के पौधे

उन्हीं बच्चों को वितरित किए गए हैं जिनके पैतृक कृषि भूमि हो या निवास

स्थान के अगल-बगल में पौधरोपण के लिए खुला स्थान आसानी से उपलब्ध

है। वहीं जो बच्चे स्कूल कैंपस या गांव की सार्वजनिक भूमि में पौधरोपण कर

परवरिश की जिम्मेदारी उठा सके। इफ्को की गाइड लाइन के अनुसार नीम की

खेती प्रत्येक अभिभावक के लिए मुनाफे का सौदा साबित होगी। क्योंकि नीम

की खेती करवाने के साथ ही एजेंसी द्वारा अभिभावकों से अच्छी कीमत में नीम

के बीजों की खरीद भी करवाई जाएगी, जिनका उपयोग नीम कोटेड यूरिया और

प्राकृतिक खेती के साथ औषधियों में भी किया जाएगा।

खास बात ये है कि इफ्को द्वारा पौधों की परवरिश के लिए भी विशेष योजना

तैयार की गई है। श्रेष्ठ तरीके से ज्यादा पौधों को बचाने वाले छात्र एवं

अभिभावकों को एजेंसी द्वारा वार्षिक पुरस्कार भी दिए जाएंगे। इसके लिए

प्रत्येक तीन माह से पौधों की प्रगति रिपोर्ट तैयार करवाई जाएगी। माना जा रहा

है कि एजेंसी की यह पहल पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में महत्वपूर्ण साबित होगी।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...