हरा चना खाकर हो जाएंगे स्वस्थ्य


हरा चना  स्वादिष्ट होता है उतना ही सेहतमंद होता है। हरे चने में ढेर सारे पौष्टिक तत्व होते हैं जो शरीर को ऊर्जा देने के साथ-साथ कई गंभीर रोगों से बचाते हैं। इसमें कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फाइबर, आयरन तथा विटामिन मौजूद होते हैं। चने के साथ-साथ इसके पौधे की पत्तियों का बड़ा स्वादिष्ट साग बनता है  हरा चना खाने से शरीर में तुरंत एनर्जी आती है और शरीर की थकावट मिट जाती है। हरे चने में विटामिन सी और कैल्शियम भरपूर मात्रा में होता है इसलिए इसे खाने से हड्डियां मजबूत रहती हैं और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।
बैड कोलेस्ट्रॉल कम,गुड कोलेस्ट्रॉल ज्यादा:
हरे चने के सेवन से हड्डी के रोगों जैसे ऑस्टियोपोरोसिस,बीमारियां भी दूर रहती हैं। हरा चना शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को घटाता है गुड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को बढ़ाता है। दिल संबंधी ज्यादातर बीमारियों की जड़ में यही बैड कोलेस्ट्रॉल होता है इसलिए ये आपके दिल के लिए बेहद फायदेमंद है। 100 ग्राम चने में केवल 62 मिलीग्राम कोलेस्ट्रॉल होता है।
शुगर में लाभदायक:
हरा चना चूंकि एक तरह का बीज होता है इसलिए इसमें भी अन्य बीजों की तरह ब्लड शुगर कंट्रोल करने के गुण होते हैं। चने में फाइबर भरपूर होता है इसलिए इसे खाने से शरीर में ब्लड फैट का रेगुलेशन ठीक रहता है। चने में शुगर की मात्रा 0 होती है इसलिए ये डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद है। चना पोटैशियम और सोडियम से भरपूर होता है। 100 ग्राम चने में लगभग 1840 मिलीग्राम पोटैशियम और 372 मिलीग्राम सोडियम होता है।चने में विटामिन ए, विटामिन ई, विटामिन सी, विटामिन के और विटामिन बी कॉम्पलेक्स होता है इसलिए इसे खाने से आंखों की रोशनी तेज होती है और आंखों संबंधी गंभीर बीमारियां जैसे रतौंधी, ग्लूकोमा, आई फ्लू आदि नहीं होते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here