हवाई द्वीप पर ज्वालामुखी के बाद एसिड की बारिश का खतरा

होनोलूलू ।  ज्वालामुखी  झेल रहे हवाई द्वीप पर अब अमेरिकी भूविज्ञान सर्वेक्षण (यूएसजीएस) ने चेतावनी दी है कि हवाई द्वीप पर ज्वालामुखी विस्फोट के बाद धुएं और एसिड की बारिश का खतरा पैदा हो गया है। किलौइया ज्वालामुखी विस्फोट के बाद हवाई के बिग द्वीप के निवासियों को वाष्पचालित विस्फोटों, ज्वालामुखी से निकलने वाले खतरनाक धुएं और अम्ल-वर्षा की कठिनाइयों से जूझना पड़ेगा। इसके अलावा ज्वालामुखी के आसपास स्थित विशाल क्षेत्र मे राख फैल सकती है।
आने वाले सप्ताह में चेतावनी:
पोर्ट्स के मुताबिक, यूएसजीएस की हवाई ज्वालामुखी वेधशाला ने बुधवार को आने वाले सप्ताहों में संभावित विस्फोट की चेतावनी दी है क्योंकि लावा का किलौइया ज्वालामुखी के अंदर एक झील में समाता जा रहा है। वेधशाला ने कहा, ‘भूजल प्रवाह का लावा के साथ संपर्क हो सकता है जिससे वाष्पीय विस्फोट होगा।’ यूएसजीएस ने यह भी कहा कि राख का गुबार अधिक ऊंचाई तक बढ़ेगा जिससे विशाल क्षेत्र में राख फैल सकती है।
हालांकि बताया जा रहा है कि यदि एसिड की बारिश होती भी है तो उससे लोगों को कोई खतरा नहीं होगा।  चेतावनी में कहा गया है, ‘इस वक्त हम नहीं कह सकते कि विस्फोटक गतिविधियां कब होगी, विस्फोट कितना बड़ा हो सकता है और कितने वक्त तक विस्फोटक गतिविधियां जारी रहेंगी।’ भूकंप और ज्वालामुखी विस्फोट होने के मद्देनजर गवर्नर डेविड इगे ने एक प्रेस विज्ञप्ति में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से हवाई के लिए आपदा घोषित करने की मांग की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here