हेपेटाइटिस-सी की जांच की बंद, इलाज अटका, भटके मरीज

महानगर संवाददाता
एसएमएस अस्पताल में गुपचुप तरीके से जांच के बंद होने से पीलिया के मरीज हुए परेशान
जयपुर। एसएमएस अस्पताल में सोमवार को हेपेटाइटिस-सी की जांच अचानक बंद कर दी गई। ऐसे में आउटडोर में आने वाले मरीजों को जांचों के लिए भटकना पड़ा। गौरतलब है कि एसएमएस अस्पताल में हेपेटाइटिस-सी की जांच के लिए प्रतिदिन पच्चीस से पचास मरीज पहुंचते हैं लेकिन सोमवार को एसएमएस अस्पताल के आउटडोर में हेपेटाइटिस-सी की जांच नहीं होने के कारण मरीजों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। पीलिया के मरीज आउटडोर में भटकते नजर आए। मरीजों का कहना था कि जांच नहीं होने के कारण उनका इलाज भी अटक गया है। इस मामले में एसएमएस अस्पताल प्रशासन का कहना है कि टेंडर के इश्यू के चलते कुछ समस्याएं थी जिसके चलते आउटडोर में सुबह हेपेटाइटिस की जांचें बंद कर दी गई थी। जैसे ही जानकारी मिली जांच कंपनी को निर्देशित कर फिर से जांच शुरू की करवाईं गई और मरीजों के जांच सैंपल लिए गए ।
पहले भी बंद कर दी थी कल्चर जांचें : ऐसा नहीं है कि एसएमएस अस्पताल में सिर्फ हेपेटाइटिस- सी की जांच गुपचुप तरीके से बंद करवा दी गईं हों, कुछ दिन पहले एसएमएस अस्पताल में कल्चर जांच भी गुपचुप तरीके से बंद कर दी गईं थी। बाद में यह मामला मीडिया तक पहुंचने के बाद फिर कल्चर जांचें शुरू करवाईं गईथी। लेकिन इस मामले में अस्पताल प्रबंधन का कुप्रबंधन सामने आया। अस्पताल प्रशासन की मानें तो हेपेटाइटिस-सी की जांच नहीं होने की सूचना मिलने के बाद जांच कंपनी के टेंडर का इश्यू खत्म करवाकर फिर से कर्मचारियों को हेपेटाइटिस -सी के सैंपल लेने के निर्देश दिए। इस दौरान मरीजों को कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ा।
सूचना मिलने पर फिर से शुरू करवाईं जांच: जैसे ही सूचना मिली कि एसएमएस अस्पताल में हेपेटाइटिस-सी की जांच बंद हो गई है। उसके बाद इस मामले का पता किया गया और जांच कंपनी का टेंडर इश्यू खत्म करवाया गया और फिर से हेपेटाइटिस की जांच शुरू करवाई गई। इस दौरान मरीजों को थोड़ी परेशानी हुई।
डॉ.डी.एस.मीणा
अधीक्षक, एसएमएस अस्पताल, जयपुर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...