108 एंबुलेंस 20 दिनों से टायरों के अभाव में खराब है- खाजूवाला सीएचसी का मामला

0
50

बीकानेर। जिले के खाजूवाला उपखंड सीएससी की एकमात्र 108 एंबुलेंस पिछले 20 दिनों से टायरों के अभाव में खराब खड़ी है. एंबुलेंस खराब होने के चलते खाजूवाला से 115 किलोमीटर दूर बीकानेर जिला मुख्यालय जाने में मरीजों को भारी परेशानियां उठानी पड़ रही है. इस समस्या की ओर न तो जिला प्रशासन ध्यान दे रहा है और ना ही को जनप्रतिनिधि.

खाजूवाला विधानसभा से विधायक भाजपा सरकार में संसदीय सचिव व पेशे से डॉक्टर होते हुए भी खाजूवाला में अव्यवस्थित हो रही चिकित्सा व्यवस्थाओं पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है. खाजूवाला सीएचसी में प्रतिदिन 600 से 700 मरीज परामर्श लेने पहुंचते हैं, जिनमें से हर रोज करीब एक दर्जन से ज्यादा मरीजों को बीकानेर रैफर किया जाता है. सीएचसी की खराब एंबुलेंस को लेकर संसदीय सचिव डॉक्टर विश्वनाथ मेघवाल ने कहा कि जल्द ही नई एंबुलेंस उपलब्ध करवाई जाएगी.

अस्पताल में पहुंच रहे मरीजों ने बताया कि 108 एंबुलेंस अक्सर खराब रहती है, जिसकी वजह से मरीजों को मोटी रकम देकर निजी वाहनों से इलाज करवाने के लिए बीकानेर जिला मुख्यालय स्थित पीबीएम अस्पताल पहुंचना पड़ता है. खाजूवाला ब्लॉक सीएमएचओ पवन सारस्वत ने बताया कि जिला प्रशासन व 1089 कंपनी को कई बार अवगत करवाया जा चुका है, लेकिन एंबुलेंस की तरफ किसी की ध्यान नहीं जाता है.

बीकानेर सीएमएचओ डॉक्टर बीएल मीणा खाजूवाला पहुंचे तो मरीजों ने 108 एंबुलेंस के अभाव में हो रही परेशानियों के बारे में अवगत कराया. उन्होंने कहा कि सीमावर्ती क्षेत्र होने ने साथ ही बीकानेर से 115 किलोमीटर दूर होने के चलते यहां एंबुलेंस की अति आवश्यकता है. उन्होंने आगामी 15 से 20 दिनों में खाजूवाला और छतरगढ़ उपखंड मुख्यालयों पर नई 108 एंबुलेंस उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...