11 दिन बाद मंत्रालयिक कर्मचारियों ने शुरू किया आमरण अनशन

0
60

जयपुर। राजधानी जयपुर में 11 दिन से महापड़ाव डाले बैठे मंत्रालयिक कर्मचारियों ने सोमवार को आंदोलन तेज कर दिया है। सरकार से रूठे मंत्रालयिक कर्मचारी आज से आमरण अनशन पर बैठ गए। जयपुर समेत प्रदेशभर में जिला मुख्यालयों पर सैकड़ों कर्मचारी एक साथ अनशन पर बैठे। महापड़ाव के दौरान सरकार की तरफ से किसी भी तरह वार्ता की पहल से नाराज कर्मचारियों ने दोपहर 12 बजे से प्रदेशभर में अनशन शुरू किया।

मंत्रालयिक कर्मचारियों ने सोमवार से आंदोलन को तेज करने की घोषणा के साथ ही पड़ाव स्थल पर संख्या में भी बढ़ोतरी शुरू हो गई। कई जिलों से कर्मचारी सोमवार सुबह तक जयपुर पहुंचे। अब महापड़ाव में मंत्रालयिक कर्मचारियों के परिवारजन भी शामिल हो गए। इनके समर्थन में अजमेर विद्युत वितरण निगम के कर्मचारी भी सरकार से बगावत पर उतर चुके हैं।

मंत्रालयिक कर्मचारी राजस्थान में 20 सितंबर से महापड़ाव डाले बैठे है। सरकार के रवैये से सख्त नाराज मंत्रालयिक कर्मचारी अब आर पार की लड़ाई के मूड में हैं।

[9 मांगों को लेकर आंदोलनरत हैं कर्मचारी]
1 ग्रेड-पे 3600 एवं वेतन विसंगति को दूर करना.
2 सचिवालय के समान वेतन एवं भत्ते दिया जाए.
3 शेष रहे उच्च पदोन्नति के पद सृजित करने के साथ पंचायती राज विभाग के लिए उच्च पदोन्नती के पदों का आवंटन कराने एवं राजस्व विभाग के उच्च पदों में आज तक पदोन्नति नहीं होने के क्रम में.
4 वित्त विभाग की सोलंकी कमेटी की रिपोर्ट के क्रम में.
5 वेतन कटौती बंद करना.
6 कनिष्ठ सहायक के पद को टंकण मुक्त किए जाने के क्रम में.
7 शिक्षा विभाग में पदों में कमी को वापस लिया जाना.
8 शैक्षिक योग्यता स्नातक किए जाने बाबत.
9 निदेशालय का गठन.

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...