14 साल के लड़के का 22 लीटर खून पी गए पेट के कीड़े, डाक्टर रह गए दंग

0
78
worm

दिल्ली के गंगाराम अस्पताल के डाक्टर उस समय हैरान रह गए, जब उन्हें पता चला कि 14 साल के एक लड़के का 50 यूनिट खून कृमि यानि पेट के कीड़े पी गए। आपकोे जानकारी के लिए बता दें कि उत्तराखंड का हल्दवानी निवासी एक 14वर्षीय ​किशोर पिछले दो साल से बीमार था, डाक्टरों को उसकी बीमारी समझ में नहीं आ रही थी, उसे हमेशा खून चढ़ाना पड़ रहा था।

लेकिन जब इस 14 वर्षीय किशोर को जब दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में भर्ती कराया गया तब पता चला कि इस मरीज के पेट में कीड़े हैं, जो पिछले दो साल से उसके खून चूस रहे हैं। गंगाराम अस्पताल के डॉक्टरों ने कैप्सूल एंडोस्कोपी से इस घातक बीमारी की पहचानक की और उसका इलाज शुरू किया।

गंगाराम अस्पताल के डॉ. अनिल अरोड़ा का कहना है कि उनके सर्विस पीरियड में पहली बार ऐसा मामला सामने आया है। उन्होंने कहा कि उस 14 साल के लड़के की बीमारी इतनी बढ़ गई थी कि उसके शौच से भी खून आने लगा था। यहां तक कि वह लड़का एनीमिया से ग्रसित हो चुका था। 6 महीने पहले जब उसे अस्पताल में इलाज के लिए लाया गया उस वक्त उसके शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा मात्र 5.86 ग्राम प्रति डेसीलीटर रह गई थी।

उन्होंने कहा कि एंडोस्कोपी व क्लोनोस्कोपी जांच रिपोर्ट सामान्य आने के बाद जब 14 वर्षीय लड़के की कैप्सूल एंडोस्कोपी की गई तब पता चला कि उसके पेट में कीड़े हैं। इस लड़के के परिजनों का कहना है कि अब तक उसे 50 यूनिट खून चढ़ाया जा चुके है।

जानिए क्या है कैप्सूल एंडोस्कोपी?

हाथ साफ किए बगैर भोजन करने, गंदा पानी पीने तथा नंगे पांव चलने से पेट में कीड़े पड़ जाते हैं। परिजनों का कहना था कि उसके पेट में दर्द,बुखार अथवा डायरिया की भी परेशानी नहीं थी। पेट में कीड़े पड़ने के दौरान तुरंत डाक्टर से संपर्क करें। हांलाकि बच्चों-किशोरों में कीड़ों का कोई विशेष लक्षण नहीं दिखाई देता है। बावजूद इसके कैप्सूल एंडोस्कोपी के कुछ लक्षण देखे जा सकते हैं।
—बार-बार उलटी का आना या फिर उलटी का आभास होना।
—स्वाभाव में चिड़चिड़ापन का आना।
— कभी कभार उल्टी या खांसी के वक्त कीड़े भी बाहर आ जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...