18वीं वार्षिक कला प्रदर्शनी: अपनी भावनाओं को कैनवास पर उकेरा

0
119

जयपुर। समाज के बंधन में जकड़ी महिलाएं जो खुली आंखों से अपनी ख्वाहिशें पूरी नहीं कर पातीं वो सब बंद आंखों से उन्हें पूरा होता महसूस करने की कोशिश करती हैं।

रुचिका जोशी द्वारा बनाया गया तितलियों को पकडऩे की कोशिश करती सोती हुई महिला का स्कल्पचर कुछ यही दर्शाने की कोशिश कर रहा है जिसमें तितलियां उन ख्वाहिशों को चित्रित कर रही हैं जिन्हें कहीं न कहीं वो असल जिंदगी में पूरा करना चाहती हैं। मौका था विजुअल आर्ट्स विभाग की प्रस्तुति 18वीं वार्षिक कला प्रदर्शनी अभिव्यक्ति एक प्रयास 2017- 2018 का। जवाहर कला केंद्र की चतुर्दिक गैलरी में लगाई गई इस प्रदर्शनी का उद्घाटन डॉ. अश्विन एम दल्वी,चेयरमैन, राजस्थान ललित कला अकादमी द्वारा मंगलवार को हुआ।

रुचिका ने अपनी कलाकारी के जरिए एक अनूठा प्रयास करते हुए ब्लू पॉटरी से स्कल्पचर व म्यूरल बनाने की कोशिश की है। रुचिका के मुताबित ब्लू पॉटरी से कोई भी वस्तु तैयार करने में क्ले का इस्तेमाल न होकर क्वार्ट्ज स्टोन पाउडर, ग्लास पाउडर, मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल होता है जिसकी लोई तैयार करने में काफी मेहनत लगती है जिसकी वजह से ब्लू पॉटरी से सजावटी सामान आदि ही बनाए जाते हैं।

गंभीर सोच को बयां करते स्कल्पचर
इस अवसर पर सभी छात्राओं का मनोबल बढ़ाते हुए विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. अशोक गुप्ता ने कहा कि इस एक्जिबिशन के जरिए छात्राओं ने विभिन्न रंगों एवं मास्टर स्ट्रोक के जरिए कला के विभिन्न रूपों के बेहतर नमूने पेश किए हैं एवं उम्मीद है कि कला के कद्रदान कलाकारों की इस प्रतिभा एवं हुनर को सराहेंगे। इस प्रदर्शनी में विजुअल आटर््स विभाग की लगभग 185 छात्राओं ने अपनी सोच, भावनाओं व विचारों को रंगों, स्ट्रोक्स, टेक्स्चर और कला के माध्यम से अभिव्यक्त किया है।

इस चार दिवसीय प्रदर्शनी में ब्लू पॉटरी के अलावा क्ले, टैरा कोटा, फाइबर ग्लास, मेटल एवं कांक्रीट का इस्तेमाल करते हुए छात्राओं ने मजदूर और उसकी पोटली, मासूम बच्चे का बचपन छीनती केतली जैसे स्कल्पचर्स के माध्यम से उनकी जिंदगी पर प्रकाश डाला। वहीं कृतिका पारीक ने बेंच पर बैठी दो सहेलियों को दर्शाते हुए हॉस्टल व कॉलेज लाइफ में दोस्ती की अहमियत को दर्शाया।

400 किलो क्ले से बनाया स्कल्पचर
वहीं स्टूडेंट कीर्ति शर्मा ने 400 किलो क्ले का इस्तेमाल करते हुए बीन बैग पर बैठी अपने ख्यालों में कुछ लिखती लड़की का स्कल्पचर तैयार किया जिसको दर्शकों द्वारा काफी सराहा गया। स्टूडेंट शिखा शर्मा ने अपने फोटोग्राफी स्किल्स का बेहतर प्रदर्शन करते हुए 3डी फोटोग्राफ तैयार कीं जिसकी खूबसूरती का आनंद 3डी चश्मे के जरिए लिया जा सकता है। कला प्रदर्शनी में राजस्थान की एक खूबसूरत झलक भी देखने को मिली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...