गर्भ में 22 किलो की गांठ लेकर घूम रही थी ये… फिर ऐसा हुआ

मोन्ट्गोमेरी। अल्‍बामा में रहने वाली कायला रान को कई महीनों से पेट दर्द की शिकायत थी।

इसके साथ ही उन्‍हें पेट में सूजन और सांस लेने भी तकलीफ हो रही थी।

उनका वजन भी लगातार बढ़ रहा था। हालांकि पेट का बढ़ता उभार देख लोगों ने कहा कि वे गर्भवती हैं।

लोग तो उन्‍हें कह रहे थे उनके गर्भ में जुड़वां बच्‍चे हैं, हालांकि कायला समझ रही थीं कि वे प्रेगनेंट नहीं हैं।

फिर भी वे इंतजार करती रहीं, यहां तक कि प्रेगनेंसी का समय पूरा हो गया और लोगों ने कहा कि अब

डिलीवरी का समय आ गया है इसलिए सामान इकठ्ठा कर लेना चाहिए।

इसके बाद कायला ने अपनी मां को अपनी तकलीफ बताई तो वे उन्‍हें नजदीक के अस्‍पताल ले गईं।

वहां डॉक्‍टरों ने जांच की तो कुछ और ही मामला सातमने आने लगा।

गर्भ नहीं कुछ डॉक्‍टर ने बताया

डॉक्‍टरों ने जांच के बाद कहा कि कायला प्रेगनेंट नहीं हैं बल्‍कि उनके पेट में कुछ ठोस होने का अहसास हो रहा है।

बाद में समझ आया की ये ठोस चीज उनकी ओवरी में थी।

इसके बाद उनकी गहन जांच की गई तब पता चला कि उनके गर्भाशय में तरबूज के आकार की एक गांठ यानि एक खास किस्‍म का ट्यूमर मौजूद है।

इतना ही नहीं इसका आकार बढ़ रहा था जिसके चलते कायला के अंग दब रहे थे।

उन्‍हें तमाम दिक्‍कतें हो रही थीं।

डॉक्‍टरों ने कहा कि ये खतरनाक हो सकता है और इसे सर्जरी की मदद से तुरंत निकालना जरूरी है।

डॉक्‍टर भी हुए हक्‍के बक्‍के 

इसके बाद एक मुश्‍किल और लंबी सर्जरी के बाद कायला के गर्भाशय से इस गांठ को निकाला गया।

जब डॉक्‍टरों ने इसे देखा तो वो भी हैरान रह गए। ये एक बड़े तरबूज के आकार का ट्यूमर था।

जिसका वजन लगभग 50 पाउंड यानि करीब 23 किलो बताया गया।

सर्जरी करने वाले डॉक्टरों का कहना है कि उन्होंने अब तक इतनी बड़ी गांठ नहीं देखी थी।

सिस्टिक ट्यूमर के तौर पहचाने जाने वाले इस ट्यूमर को निकालने की सर्जरी आसान नहीं थी।

इसलिए सब कुछ अच्‍छी तरह निपट जाने से डॉक्‍टर भी काफी खुश हैं।

वहीं कायला का भी कहना है कि दर्द से निजात पाकर वे भी बेहद सुकून से हैं।

उनका वजन भी करीब 75 पाउंड तक कम हो गया है। उन्‍होंने इस ट्यूमर को एक नाम भी दे दिया है टैको-बेल ।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...