कांग्रेस से जुड़ा संगठन ‘रामायण माह’ में कई कार्यक्रम आयोजित करेंगे

0
111

केरल : राजनीतिज्ञों का बस चले तो सबको अपने रंग में रंग दे अब जरा केरल में नजर डाल लेवे | केरल में हर साल मनाया जाने वाला ‘रामायण माह’ इस बार राजनीतिक रंग लेता दिख रहा है | वाम समर्थक संगठन के बाद कांग्रेस से जुड़ा एक संगठन भी ‘रामायण माह’ के मद्देनजर कई कार्यक्रम आयोजित करने की तैयारी में है |

मलयालम कैलेंडर के आखिरी महीने ‘कर्ककिटकम’ को केरल में हिंदू समुदाय ‘रामायण माह’ के तौर पर मनाता है.

इस साल यह 17 जुलाई से शुरू हो रहा है |

इसी को लेकर केरल प्रदेश कांग्रेस कमेटी की सांस्कृतिक शाखा विचार विभाग ने ‘रामायण परायण’ और सेमिनारों

सहित कई कार्यक्रमों के आयोजन की घोषणा ‘रामायणम नम्मूदेथनु, नदिंते ननमयनु’ (रामायण हमारा है, यह

समाज की अच्छाई है) के बैनर तले एक महीने लंबे कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं |

17 जुलाई को कार्यक्रमों का उद्घाटन करेंगे | सुबह ‘रामायण परायणम’ से कार्यक्रमों की शुरुआत होगी |

पूर्व केंद्रीय मंत्री और तिरुवनंतपुरम से लोकसभा सांसद शशि थरूर ‘रामायण हमारा है’ विषय पर एक व्याख्यान देंगे |

यह घोषणा केरल प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने उस समय की है जब वाम समर्थक विद्वानों, शिक्षाविदों एवं वामपंथ से

सहानुभूति रखने वालों के संगठन ‘संस्कृत संघ’ ने ‘रामायण माह’ में पूरे राज्य में सेमिनारों के आयोजन की योजना

का खुलासा किया | कहा जाता है कि ‘संस्कृत संघ’ सत्ताधारी माकपा से जुड़ा संगठन है | लेकिन संघ और माकपा

दोनों ने इस बात को खारिज किया |

बाद में कांग्रेस नेता चेन्नीथला ने आज कहा कि विभिन्न धर्मों के उत्सवों को मनाने की कांग्रेस की परंपरा रही है |

इसके तहत सभी जिलों में कई कार्यक्रम आयोजित किये जाएंगे |

Read Also:

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...