6 को और तबाही की चेतावनी, बारिश से उत्तराखंड बेहाल,

0
74

मॉनसून उत्तराखंड में कहर बनकर बरस रहे हैं. पहाड़ से मैदान तक लगातार बारिश ने भारी तबाही मचा रखी है. सभी पहाड़ी जिले बारिश से बुरी तरह बेहाल हैं. चारों ओर तबाही का मंजर दिखाई दे रहा है. राष्ट्रीय राजमार्ग अवरूद्ध हो रहे हैं और चारधाम यात्रा बार-बार बाधित हो रही है.

लगातार बारिश से यमनोत्री धाम जाने के रास्ते पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो चुके हैं और यहां सैलानियों की संख्या में भारी कमी आई है. पहाड़ पर मॉनसून जहां सबसे बड़ी मुसीबत बना हुआ है तो वहीं अब घनघोर बादल मैदानी जिलों में भी जमकर बरस रहे हैं.

गढ़वाल में जहां सबसे ज्यादा चमोली, टिहरी और उत्तरकाशी जिले में तबाही मची हुई है तो ऋषिकेश और हरिद्वार में गंगा अपने उफान पर है, वहीं अब ऋषिकेश में चंद्रभागा नदी भी उफान से बहने लग गई है. अब तो इनके किनारे रहने वाले रहने वाले लोगों की धड़कनें बढ़ गई हैं.

राजधानी देहरादून का भी नजारा कुछ ऐसे ही है जहां भारी बारिश से सड़कों का बुरा हाल है. बारिश से सड़कों पर पानी आने से नालियों का सारा मलबा रोड पर आ रहा है. बारिश का पानी लगातार रियाहशी इलाकों में घुस रहा है. शहर की नदियां और नाले लगातार पानी से लबालब होकर बह रहे हैं.

राष्ट्रीय राजमार्गों पर कई जगह रुक-रुक कर भूस्खलन से मार्ग अवरूद्ध हो रहा है जिससे बद्रीनाथ और केदारनाथ की यात्रा नाममात्र की हो चुकी है. कुमाऊं मंडल का हाल सबसे ज्यादा बेहाल है. यहां अल्मोडा, हल्द्वानी, बागेश्वर जिले काफी प्रभावित हैं. हल्द्वानी शहर की सड़कें पानी में डूबी हुई हैं. आम जीवन बुरी तरह प्रभावित हो चुका है.

मौसम विभाग की मानें तो 6 अगस्त को मौसम अपने जबरदस्त रौद्र रूप में ही नजर आने वाला है. इससे चेतावनी का सबसे ज्यादा प्रभाव  कुमाऊं मंडल में बताया जा रहा है ऐसे में आने वाला समय अभी किसी भी तरह की राहत नहीं देने वाला है.

पहाड़ से मैदान तक हो रही बारिश से फिलहाल खतरा लगातार बना हुआ है. ऐसे में यहां आम जनता के साथ प्रशासन को भी सतर्क रहने की जरूरत है जिससे किसी भी तरह के जान-माल के नुकसान से बचा जा सके.

दूसरी ओर, इस मौसम में देवदूत बनकर उभरी एसडीआरएफ की टीम अब तक ऐसे में तेज बारिश की वजह से गंगा में बह रहे कई कावड़ियों का रेस्क्यू कर चुकी है, वहीं पहाड़ी क्षेत्रों में भी रास्ते बनाकर यात्रियों को सकुशल उनके गंतव्य तक पहुंचाने का काम कर रही है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...