खोया हुआ पर्स मिलने पर उड़ गए होश

0
28

न्युयॉर्क: पर्स खोने का हादसा अक्सर लोगों के साथ हो जाता है। पर्स गायब होने पर उसमें रखी रकम जाने का गम तो होता ही है, उसके साथ उसमें रखे आईडी कार्ड और दूसरी जरूरी चीजों के गुम होने की तकलीफ ज्यादा हो जाती है। ऐसा ही कुछ हुआ अमेरिका के इस शख्स के साथ जिसका खोया पर्स न सिर्फ सही सलामत मिला, बल्कि लौटाने वाले ने पार्टी के करने के लिए उसमें रखी रकम भी बढ़ा दी।

अमेरिका ने की पाकिस्तान से चीन के कर्ज में पारदर्शिता लाने की मांग

अमेरिका के ओमाहा में रहने वाले हंटर शामैट का पर्स बहन की शादी के लिए ओमाहा से लास वेगस यात्रा के दौरान खो गया था। लास वेगस पहुंचने पर उन्हें पर्स गुम होने का एहसास हुआ। हंटर फ्रंटियर फ्लाइट से लास वेगस पहुंचे थे, उन्होंने तुरंत एयरलाइन कंपनी को फोन इसके बारे में पता किया, मगर वहां से उसे निराशा हाथ लगी। बहन की शादी को देखते हुए हंटर ने पर्स खोने की बात को तूल न देना मुनासिब समझा।  असल परेशानी तब शुरू हुई जब उसे वापस ओमाहा जाना था। एयरलाइन बिना आईडी प्रूफ के हंटर को सफर करने की इजाजत नहीं देती। खैर 1 घंटे की पूछताछ के बाद आखिरकार एयरलाइन ने उसे यात्रा की इजाजत दे दी। घर पहुंचने के कुछ दिन बाद हंटर की हैरानी का उस समय ठिकाना नहीं रहा जब उसे एक अनाम शख्स का भेजा हुआ पार्सल मिला।

पैकेज खोलने पर उसे उसमें अपना पर्स एक प्यारे से खत के साथ मिला। इसमें लिखा था, हंटर, मुझे ये पर्स ओमाहा से डेनवर जाने वाली फ्रंटियर फ्लाइट में मिला था। ये 12वें रो की सीट एफ पर सीट और दीवार के बीच फंसा था। मुझे लगता है तुम्हें इसकी जरूरत होगी। ऑल द बेस्ट। खत में नीचे एक और नोट लिखा था, मैनें तुम्हारे पर्स में रखी रकम को राउंड ऑफ करके तकरबन 100 डॉलर कर दी है, ताकि तुम पर्स वापस मिलने की पार्टी कर सको। हंटर को इस घटना पर यकीन नहीं हो रहा था। उसने कम से कम तीन बार पैसे गिने। उसे लगा जैसे वो कोई सपना देख रहा है। हंटर और उसका परिवार पर्स लौटाने वाले का शुक्रिया अदा करना चाहता था, मगर पैकेज में भेजने वाले का नाम पता नहीं था। इसलिए हंटर की मां जैनी शैमेट ने उस चिट्ठी की फोटो खींचकर फेसबुक पर डाल दी। साथ ही एक मैसेज भी लिखा कि लोग इस अंजान शख्स को ढूंढ़ने में उसकी मदद करें। इसके बाद ये पोस्ट तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हुआ।

अयोग्यता का सामना कर सकते हैं आस्ट्रेलियाई मंत्री

सोशल मीडिया की मदद से कुछ ही दिनों में शैमेट परिवार इस शख्स को ढूंढने में कामयाब हुआ। इस शख्स का नाम टौड ब्राउन है। ब्राउन के साथ काम करने वाले एक वयक्ति ने उन्हें मिलवाया। टौड ब्राउन का शुक्रिया अदा करते हुए हंटर ने उन्हें ये नोट लिखा, सर, आपने जो मेरे लिए किया है उसके लिए मैं जितना धन्यवाद करूं उतना कम है। मैंने या मेरे परिवार ने आज तक इतनी उदारता कभी नहीं देख। 40 डॉलर वापस मिलना तो छोडि़ए, मैंने सोचा तक नहीं था कि ये पर्स मुझे कभी वापस मिलेगा। मेरे ऊपर एक स्टूडेंट लोन और ट्रक का लोन है। हंटर की मां जैनी ने बताया कि ब्राउन और उसकी पत्नी को जब उन्होंने इस सब के बारे में बताया तो वो रो पड़े।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...